close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पाक में ओसामा बिन लादेन को भी देनी पड़ी थी 50,000 रुपए की घूस

विश्व का सबसे खूंखार आतंकवादी ओसामा बिन लादेन भी रिश्वतखोरी के जाल से नहीं बच पाया था। पाकिस्तान के सैन्य शहर ऐबटाबाद में ओसामा का महफूज मकान एक पटवारी को 50 हजार रुपये की घूस देने के बाद बना था।

इस्लामाबाद : विश्व का सबसे खूंखार आतंकवादी ओसामा बिन लादेन भी रिश्वतखोरी के जाल से नहीं बच पाया था। पाकिस्तान के सैन्य शहर ऐबटाबाद में ओसामा का महफूज मकान एक पटवारी को 50 हजार रुपये की घूस देने के बाद बना था। पाकिस्तान के उर्दू दैनिक ‘जंग’ में छपी एक खबर में कहा गया है कि ‘पटवारी’ को रिश्वत दी गई, ताकि ओसामा 14 फुट की दीवारों और लोहे की बाड़बंदी वाले तीन मंजिला मकान का निर्माण कर सके।
रिश्वतखोरी के इस प्रकरण का तब खुलासा हुआ जब पाकिस्तानी अधिकारियों ने कथित तौर पर ओसामा द्वारा साथ रखी जाने वाली डायरी का अनुवाद किया। अमेरिका के कमांडो दस्ते ने पिछले साल दो मई को पाकिस्तान के ऐबटाबाद शहर में एक चौंका देने वाला हमला करते हुए 54 वर्षीय ओसामा बिन लादेन को ढेर कर दिया था। ओसामा का मकान पाकिस्तान की सैन्य अकाडमी से कुछ ही दूरी पर था।
पाकिस्तानी सेना ने इस साल के शुरू में ओसामा के आवासीय परिसर को गिरा दिया था। अधिकारियों को परिसर में एक डायरी सहित एक लाख 37 हजार दस्तावेज मिले थे। खबर में कहा गया है कि ओसामा हर रोज डायरी लिखा करता था।
इसके अनुसार अलकायदा प्रमुख ने डायरी में उल्लेख किया कि अपना मकान बनवाने के लिए किस तरह उसे राजस्व अधिकारी को रिश्वत देनी पड़ी। पटवारी को बाद में सुरक्षा एजेंसियों ने गिरफ्तार कर लिया था, जो रिश्वत लेने के समय ओसामा बिन लादेन की पहचान से पूरी तरह अनभिज्ञ था।
डायरी से कथित तौर पर खुलासा होता है कि ओसामा पाकिस्तान के राजस्व अधिकारियों की रिश्वतखोरी की आदत से अच्छी तरह वाकिफ था, इसीलिए उसने पटवारी को रिश्वत देने के लिए अपनी हामी भर दी थी। जंग की खबर के मुताबिक पाकिस्तान में ओसामा की मौजूदगी और अमेरिकी हमले की जांच करने वाले न्यायिक आयोग ने अपनी रिपोर्ट में देश के संस्थानों की ‘‘कमजोरी’’ का खुलासा किया और इन संगठनों के ‘‘घटिया प्रदर्शन’’ का उल्लेख किया। आयोग की रिपोर्ट अभी सरकार के समक्ष पेश की जानी है और अधिकारियों ने इस बारे में नहीं बताया है कि इसे सार्वजनिक किया जाएगा या नहीं। (एजेंसी)