ब्रेस्ट का उभार दिखाने पर नाइट क्लब में इंट्री फ्री

ब्रिटेन के नाइट क्लब अपने यहां युवतियों को आकर्षित करने के लिए नए-नए हथकंडे अपनाने लगे हैं। एक नाइट क्लब ने अपने यहां आने वाली उन महिलाओं को फ्री एंट्री देने का ऑफर दिया है जो ऐसे टाइट कपड़े पहन कर आएं जिसमें उनके वक्षस्थल का उभार दिखता हो।

ज़ी न्यूज ब्यूरो
लंदन : ब्रिटेन के नाइट क्लब अपने यहां युवतियों को आकर्षित करने के नए-नए हथकंडे अपनाने लगे हैं। एक नाइट क्लब ने अपने यहां आने वाली उन महिलाओं को फ्री एंट्री देने का ऑफर दिया है जो ऐसे टाइट कपड़े पहन कर आएं जिसमें उनके वक्षस्थल का हसीन उभार दिखता हो।
रोचेस्टर के ‘कैसिनो रूम्स’ नाइट क्लब के इस ऑफर पर ब्रिटेन के सांसदों ने हालांकि नाराजगी जताई है। नाइट क्लब ने 4 से 6 अप्रैल तक राष्ट्रीय क्लीवेज वीकेंड्स का आयोजन किया है। इस ऑफर को प्रचारित करते हुए नाइट क्लब ने जिस तरह के पोस्टरों का इस्तेमाल किया है उसपर महिलाओं के वक्षस्थल के उभार को झलकती तस्वीर नजर आती हैं।
दर्शकों को लुभाने वाली इन पोस्टरों पर लिखा गया है कि अपने वक्षस्थल का उभार दिखाते हुए रात 11 बजे से पहले आने वाली महिलाओं के लिए क्लब में प्रवेश मुफ्त होगा। लेकिन पार्टी वाली जगह पर यह लाभ वे ही महिलाएं ले सकेंगी जिनके स्तन सबसे बड़े हों।
लंदन की एक वेबसाइट ‘हफिंग्टनपोस्ट डॉट को डॉट यूके’ के मुताबिक इस लुभावनी पोस्टर में यह भी कहा गया है कि यहां आनेवाली महिलाओं के लिए यह भी महत्वपूर्ण होगा कि वक्षस्थल का उभार बड़ा होने के साथ ही उनका प्रेजेंटेशन कैसा किया गया है।
नाइट क्लब के इस ऑफर को बेहूदा करार देते हुए कंजरवेटिव पार्टी के चैथम और आयल्सफार्ड से सांसद ट्रेसी क्राउच ने कहा कि यह सब महिलाओं को नीचा दिखाने वाला कृत्य है। एक तरफ जहां महिलाओं के सम्म्मान की बात हो रही है वहीं दूसरी तरफ ऐसे ऑफर के जरिए कुछ लोग प्रचार पाने के लिए निहायत नीचता और फूहडपन पर उतर आए हैं। लेबर पार्टी के हेकनी और स्टोक नेविंग्टन से सांसद डीएन एबट ने भी नाइट क्लब के इस ऑफर की आलोचना करते हुए कहा कि यह तो महिलाओं में ही एक दूसरे से भेदभाव का तरीका है।
गौरतलब है कि आलोचनाओं के बीच नाइट क्लब के इस ऑफर के बारे में लाखों लोग सोशल मीडिया के जरिए अपनी राय दे चुके हैं।

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.