close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

महारानी की ताजपोशी की डायमंड जुबली पर भव्य आयोजन

लाखों ब्रिटेनवासियों और पर्यटकों ने उमस भरा मौसम होने के बावजूद आज महारानी एलिजाबेथ द्वितीय की ताजपोशी के 60 साल पूरे होने पर चल रहे हीरक जयंती समारोह के तहत सड़कों पर पार्टियां आयोजित की।

लंदन : लाखों ब्रिटेनवासियों और पर्यटकों ने उमस भरा मौसम होने के बावजूद आज महारानी एलिजाबेथ द्वितीय की ताजपोशी के 60 साल पूरे होने पर चल रहे हीरक जयंती समारोह के तहत सड़कों पर पार्टियां आयोजित की। वहीं, महारानी एलिजाबेथ ने लंदन में टेम्स नदी में 1000 जहाजों के मजबूत बेड़े का नेतृत्व किया।
लंदन और देश के विभिन्न हिस्सों और विदेश से अनेक उत्साही लोगों ने आज आयोजित होने वाले टेम्स हीरक जयंती समारोह को देखने के लिए सुविधाजनक जगह हासिल करने के लिए रातोंरात पहुंच कर टेम्स नदी के पास अपना डेरा डाल रखा था।
लंदन के रास्ते में पड़ने वाले स्टेशनों पर सैकड़ों यात्रियों के फंसे होने की खबर है क्योंकि समारोह को देखने जाने वाले लोगों की ट्रेनों में भारी भीड़ है। यह कार्यक्रम उन कई कार्यक्रमों में शामिल है, जो पांच जून तक आयोजन किया जाना है।
इस कार्यक्रम के तहत छठी प्रस्तुति एक भारतीय संगीत समूह की थी जिसमें श्री मुक्ताजीवन पाइप बैंड और श्री मुक्ताजीवन ढोल अकादमी के 50 संगीतकार थे। उन्होंने बैगपाइप और तालवाद्य यंत्रों पर पारंपरिक भारतीय मधुर गीतों, स्कॉटिश धुन और बालीवुड गीतों के धुन बजाए।
कार्यक्रम के आयोजकों ने कहा कि शाही परिवार के शाही समारोह में टेम्स नदी का शानदार तरीके से इस्तेमाल करने की ऐतिहासिक परंपरा रही है। एनी बोलिन की 1533 में ताजपोशी, राजा चार्ल्स द्वितीय के और ब्रैगैंजा की महारानी कैथरीन ने 1662 और महाराजा जार्ज प्रथम ने 1717 में एक संगीत कार्यक्रम का यहां आयोजन किया था। (एजेंसी)