मास्को एयरपोर्ट पर है स्नोडेन लेकिन प्रत्यर्पण नहीं करेंगे : पुतिन

रूस के राष्ट्रपति ब्लादिमिर पुतिन ने अमेरिकी खुफिया दस्तावेजों को लीक करने वाले (अमेरिकी) राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी के टेक्नीशियन एडवर्ड स्नोडेन के अमेरिका प्रत्पर्यण की मांग को खारिज करते हुए खुलासा किया कि वह (स्नोडेन) अभी भी मास्को हवाईअड्डे के ट्रांजिट जोन में है ।

मास्को: रूस के राष्ट्रपति ब्लादिमिर पुतिन ने अमेरिकी खुफिया दस्तावेजों को लीक करने वाले (अमेरिकी) राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी के टेक्नीशियन एडवर्ड स्नोडेन के अमेरिका प्रत्पर्यण की मांग को खारिज करते हुए खुलासा किया कि वह (स्नोडेन) अभी भी मास्को हवाईअड्डे के ट्रांजिट जोन में है ।
स्नोडेन के मामले में पहली बार हस्तक्षेप करते हुए पुतिन ने खुफिया विभाग के पूर्व कर्मचारी को ऐसा ‘स्वतंत्र व्यक्ति’ बताया जिसका रूस आगमन रूसी अधिकारियों के लिए ‘पूरी तरह से अप्रत्याशित’ था ।
इस घोषणा के साथ ही स्नोडेन के छिपने के स्थान के संबंध में पिछले दो दिन से लगायी जा रही अटकलें समाप्त हो गईं । स्नोडेन ने अमेरिकी सर्विलांस परियोजना के संबंध में गोपनीय जानकारी मीडिया में लीक कर दी और अब अमेरिकी अधिकारी इस भगोड़े को खोज रहे हैं ।
फिनलैंड की यात्रा के दौरान पुतिन ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि यह सच है कि श्रीमान स्नोडेन मास्को आए हैं । हमारे लिए यह पूरी तरह अप्रत्याशित था । पुतिन ने कहा कि वह एक ट्रांजिट यात्री के तौर पर यहां आए हैं और उन्हें किसी वीजा या अन्य दस्तावेज की जरूरत नहीं है । वह टिकट खरीद सकते हैं और जहां चाहें जा सकते हैं । उन्होंने राज्य की सीमा में प्रवेश नहीं किया है और बतौर ट्रांजिट यात्री वह अभी भी ट्रांजिट हॉल में हैं ।
खबरों के अनुसार, इक्वाडोर में शरण पाने के लिए स्नोडेन सोमवार को क्यूबा रवाना होने वाले थे । लेकिन वह क्यूबा जा रहे विमान पर नहीं चढ़े और पुतिन इस बात की पुष्टि कर रहे हैं कि वह अभी भी अपने आगे की यात्रा को लेकर अनिश्चित हैं । पुतिन ने कहा कि श्रीमान स्नोडेन एक स्वतंत्र व्यक्ति हैं, जितनी जल्दी वह अपना यात्रा गंतव्य चुन लें हमारे और उनके लिए उतना ही बेहतर होगा ।
अमेरिका ने रूस से कहा था कि वह स्नोडेन को बाहर निकालने के लिए सभी तरीकों का उपयोग करें । खबरों के मुताबिक स्नोडेन रविवार को हांगकांग से एक विमान से मास्को के सेरेमेत्येवो हवाईअड्डा पहुंचे । हालांकि रूस ने जोर दिया है कि रूस सिर्फ उन्हीं देशों के नागरिकों को प्रत्यर्पित करता है जिसके साथ उसकी औपचारिक प्रत्यर्पण संधि है ।
पुतिन ने कहा कि अमेरिका के साथ हमारी ऐसी कोई संधि नहीं है । उन्होंने अमेरिका द्वारा रूस पर लगाए गए कानून तोड़ने के आरोपों को ‘निर्थक और बकवास’ बताया । दूसरी ओर जेद्दा में अमेरिकी विदेश मंत्री जॉन केरी ने रूस से ‘शांत’ रहने और स्नोडेन को उसके हवाले करने की बात करते हुए कहा कि वाशिंगटन कोई ‘झगड़ा’ नहीं चाहता । (एजेंसी)