लंदन में जासूस नूर की प्रतिमा का अनावरण

भारतीय मूल की ब्रिटिश जासूस नूर इनायत खान की आवक्ष प्रतिमा का गुरुवार को यहां अनावरण हुआ। गॉर्डन स्क्वेयर गार्डन्स में उस मकान के नजदीक प्रतिमा स्थापित की गई है जहां वह बचपन में रहा करती थीं।

लंदन : भारतीय मूल की ब्रिटिश जासूस नूर इनायत खान की आवक्ष प्रतिमा का गुरुवार को यहां अनावरण हुआ। गॉर्डन स्क्वेयर गार्डन्स में उस मकान के नजदीक प्रतिमा स्थापित की गई है जहां वह बचपन में रहा करती थीं।
प्रतिमा का अनावरण महारानी एलिजाबेथ द्वितीय की बेटी राजकुमारी एनी ने किया। नूर जर्मनी द्वारा यातना दिए जाने और गोली मारे जाने से पहले द्वितीय विश्वयुद्ध के दौरान फ्रांस में काम करती थीं।
ऐसा कहा जाता है कि ब्रिटेन में किसी मुसलमान को समर्पित और किसी एशियाई महिला के सम्मान में यह इस तरह का पहला स्मारक है।
नूर को फ्रांस में उसके द्वारा किए गए काम तथा 10 महीने तक चली यातनाओं के बावजूद पूछताछ करने वालों को कोई भी राज नहीं उगलने के लिए मरणोपरांत ‘जॉर्ज क्रॉस’ से सम्मानित किया गया था। वह मैसूर का शेर कहे जाने वाले टीपू सुल्तान की वंशज थी।
ब्रिटेन के लिए काम करने वाली इस भुला दी गई नायिका का स्मारक बनाए जाने के लिए श्रावणी बसु के नेतृत्व में नूर इनायत खान मेमोरियल ट्रस्ट वर्षों से अभियान चला रहा था। बसु ने नूर की जीवनी लिखी है।
ट्रस्ट के अभियान को ब्रिटिश प्रधानमंत्री डेविड कैमरन और कई सांसदों तथा बड़े लोगों और फिल्म निर्माता गुरिन्दर चड्ढा, रंगमंच कलाकार नीना वाडिया तथा सितार वादक अनुष्का शंकर जैसी जानी मानी महिलाओं का भी समर्थन प्राप्त था। (एजेंसी)