close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

लादेन को हमने नहीं छिपाया:गिलानी

अलकायदा सरगना ओसामा बिन लादेन को छिपने के लिए सुरक्षित स्थान मुहैया कराने में पाकिस्तान की कोई भूमिका न होने का दावा करते हुए प्रधानमंत्री यूसुफ रजा गिलानी ने कहा है कि दुनिया भर की खुफिया एजेंसियों की नाकामी की वजह से लादेन उनके देश में छिपा रहा।

लंदन: अलकायदा सरगना ओसामा बिन लादेन को छिपने के लिए सुरक्षित स्थान मुहैया कराने में पाकिस्तान की कोई भूमिका न होने का दावा करते हुए प्रधानमंत्री यूसुफ रजा गिलानी ने कहा है कि दुनिया भर की खुफिया एजेंसियों की नाकामी की वजह से लादेन उनके देश में छिपा रहा।

 

पांच दिवसीय दौरे पर ब्रिटेन आए गिलानी ने द गार्डियन को दिए साक्षात्कार में इस बात को सिरे से खारिज कर दिया कि ऐबटाबाद में लादेन के छिपे होने के बारे में खुफिया जानकारी थी।

 

उन्होंने कहा ‘इसमें छिपाने वाली कोई बात नहीं है। मुझे लगता है कि यह दुनिया भर की खुफिया एजेंसियों की असफलता थी। ’

 

गिलानी ने इस बात से भी इंकार किया कि पाकिस्तानी सेना के कुछ तत्वों को लादेन के ठिकाने की जानकारी दी। उन्होंने कहा ‘हमें ऐसा क्यों करना चाहिए? हमने सर्वाधिक पीड़ा सही है।’ प्रधानमंत्री के अनुसार, जब आतंकवाद से मुकाबले के वैश्विक मुद्दे की बात आती है तो पाकिस्तान समाधान का हिस्सा है, समस्या का नहीं।

 

द गार्जियन की खबर में कहा गया है कि साक्षात्कार के दौरान गिलानी ने दिल्ली के साथ संबंधों को लेकर बहुत उत्साह जताया और भारत के प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की गर्मजोशी के बारे में बोले।

 

गिलानी ने कहा कि इस्लामाबाद भारत के साथ जम्मू कश्मीर और सियाचिन सहित सभी प्रमुख मुद्दों के हल के लिए गंभीर है।

 

उन्होंने दावा किया कि अफगानिस्तान में अस्थिरता और अपने यहां इस्लामी चरमपंथियों की हिंसा में उनके देश ने बहुत कुछ गंवाया है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान ने भारी कीमत चुकाई है। करीब 35,000 लोग शहीद हो गए। लगभग 5,000 पुलिस कर्मी और जवान मारे जा चुके हैं। गिलानी के अनुसार, इसके अलावा पाकिस्तान 36 लाख अफगान शरणार्थियों की जरूरतें भी पूरी कर रहा है। (एजेंसी)