साइबर जासूसी कर रहा है चीन: अमेरिकी रक्षा मंत्री

अमेरिका के रक्षा मंत्री चक हेगल ने सिंगापुर सुरक्षा फोरम में चीनी सैन्य अधिकारियों की मौजूदगी में बीजिंग पर वाशिंगटन के खिलाफ साइबर जासूसी करने का आरोप लगाया।

सिंगापुर : अमेरिका के रक्षा मंत्री चक हेगल ने सिंगापुर सुरक्षा फोरम में चीनी सैन्य अधिकारियों की मौजूदगी में बीजिंग पर वाशिंगटन के खिलाफ साइबर जासूसी करने का आरोप लगाया।
अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा और चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग की अगले सप्ताह होने वाली बैठक से पहले चीन पर इलेक्ट्रानिक जासूसी को लेकर दबाव बनाते हुए हेगल ने चीन सरकार और सेना पर संवदेशनशील अमेरिकी सूचना प्रणाली में बार बार सेंधमारी करने का आरोप लगाया।
हेगल ने वाषिर्क सिंगापुर सम्मेलन ‘शंग्री-ला वार्ता’ में कहा, ‘‘ अमेरिका ने साइबर सेंधमारी के बढते खतरे को लेकर चिंताएं जाहिर की है जिनमें से कुछ चीनी सरकार और सेना से संबंधित नज़र आती है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ विश्व की दो सबसे बड़ी अर्थव्यवस्थाओं के तौर पर अमेरिका और चीन के हितों और चिंताओं के कई साझे क्षेत्र हैं और साइबर कार्य समूह की स्थापना साइबर :मुद्दों: पर अमेरिका-चीन बातचीत को बढ़ावा देने की दिशा में सकारात्मक कदम है।’’ हेगल ने कहा, ‘‘ हम साइबरस्पेस में जिम्मेदाराना आचरण के अंतरराष्ट्रीय नियम स्थापित करने के लिए चीन और अन्य साझेदारों के साथ और जोश से काम करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।’’ ओबामा और शी की 7-8 जून को कैलिफोर्निया में बैठक होगी।
पेंटागन ने मई की शुरूआत में जारी अपनी रिपोर्ट में चीनी हैकरों पर अमेरिकी हथियारों के डिजाइन तक पहुंच बनाने का आरोप लगाया था जिसे हेगल के भाषण से दो दिन पहले चीन के रक्षा मंत्रालय ने सिरे से खारिज कर दिया था। (एजेंसी)