‘पूर्व की ओर देखो’ नीति पर अमेरिका फिदा

अमेरिकी विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन ने कहा है कि उनका देश भारत की ‘पूर्व की ओर देखो’ नीति का समर्थन करना चाहता है।

वाशिंगटन : अमेरिकी विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन ने कहा है कि उनका देश भारत की ‘पूर्व की ओर देखो’ नीति का सक्रिय रूप से समर्थन करना चाहता है और दुनिया के इस सबसे बड़े लोकतंत्र के साथ व्यापक और अधिक उद्देश्यपूर्ण संबंध के लिए प्रतिबद्ध है।

 

हवाई में अमेरिका के प्रतिष्ठित थिंक टैंक ‘ईस्ट-वेस्ट सेंटर’ के एक कार्यक्रम में हिलेरी ने कहा, ‘हम उभरती हुई ताकतों इंडोनेशिया अथवा भारत, मंगोलिया, सिंगापुर, न्यूजीलैंड, मलेशिया, वियतनाम के साथ प्रभावी ढंग से काम करेंगे।’ उन्होंने कहा कि एशिया-प्रशांत के इन सभी देशों के साथ नजदीकी और विस्तृत साझेदारी के लिए अमेरिका ठोस प्रयास कर रहा है। हिलेरी ने कहा, ‘भारत और इंडोनेशिया दुनिया की दो महत्वपूर्ण लोकतांत्रिक ताकतें हैं। अमेरिका इनके साथ व्यापाक और अधिक उद्देश्यपूर्ण संबंध को लेकर प्रतिबद्ध है।’

 

हिलेरी ने कहा कि ओबामा प्रशासन ने शुरुआत से ही एशिया-प्रशांत क्षेत्र को महत्व दिया है। 21वीं सदी में एशिया प्रशांत क्षेत्र सामरिक एवं आर्थिक गतिविधियों का मुख्य केंद्रबिंदु होगा। अमेरिकी विदेश मंत्री ने कहा, ‘यह सदी एशिया-प्रशांत क्षेत्र की होगी। यह बहुआयामी, जटिल और परिणामोन्मुखी क्षेत्र होगा। इसमें हमारे लिए कई महत्वपूर्ण साझेदार हैं। हम इन देशों के साथ मिलकर आगे भी काम करते रहेंगे।’ (एजेंसी)