close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

`एक लड़की ने की थी ओसामा के शव की पहचान`

अमेरिका के विशेष सुरक्षा नेवी सील की कार्रवाई में ओसामा बिन लादेन के मारे जाने के बाद जब अलकायदा सरगना की बीवियों ने उसके शव की शिनाख्त नहीं की तो वहां खड़ी एक लड़की ने बताया कि यही दुनिया का सबसे खूंखार दहशतगर्द है।

वाशिंगटन : पाकिस्तान के ऐबटाबाद में पिछले साल अमेरिका के विशेष सुरक्षा नेवी सील की कार्रवाई में ओसामा बिन लादेन के मारे जाने के बाद जब अलकायदा सरगना की बीवियों ने उसके शव की शिनाख्त नहीं की तो वहां खड़ी एक लड़की ने अमेरिकी जवानों को बताया कि यही दुनिया का सबसे खूंखार दहशतगर्द है।
यह दावा सील के पूर्व सुरक्षा बल मैट बिसोनेट (36) की पुस्तक ‘नो इजी डे : द फर्स्टहैंड अकाउंट ऑफ द मिशन दैट किल्ड ओसामा बिन लादेन’ में किया गया है। बिसोनेट ने यह पुस्तक छद्म नाम ‘मार्क ओवेन’ से लिखा है। लेखक का दावा है कि जवानों के कमरे में दाखिल होने से पहले ही ओसामा उनकी गोलियों का शिकार हो चुका था, लेकिन सील के जवान खून में सने शव की शिनाख्त नहीं कर पा रहे थे।
बिसोनेट कहते हैं, ‘कमरे में लथपथ पड़े व्यक्ति का चेहरा खून में सना हुआ था। मैंने वहां पड़ी चादर से उसका चेहरा साफ किया तो पता चला कि यह वही शख्स है जिसके खिलाफ हम एक दशक से लड़ रहे हैं।’ उसका दावा है कि जब ओसामा की बीवियों ने यह बताने से इंकार कर दिया कि मारा गया व्यक्ति ही अलकायदा सरगना है तो वहां एक लड़की ने कहा कि यही ओसामा बिन लादेन है। इसके बाद सील के जवानों ने उसकी तस्वीर और डीएनए के नमूने लिए। (एजेंसी)