close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

`मोदी संबंधी पत्र भारत की चुनावी प्रक्रिया में हस्तक्षेप`

अमेरिका में ‘ओवरसीज फ्रेंड्स ऑफ बीजेपी-यूएसए’ नाम के संगठन ने आरोप लगाया है कि नरेंद्र मोदी को वीजा दिए जाने पर लगी रोक जारी रखने को लेकर हिलेरी क्लिंटन को लिखा गया पत्र अमेरिकी सांसदों द्वारा भारत की लोकतांत्रिक चुनावी प्रक्रिया में हस्तक्षेप का प्रयास है।

वाशिंगटन : अमेरिका में ‘ओवरसीज फ्रेंड्स ऑफ बीजेपी-यूएसए’ नाम के संगठन ने आरोप लगाया है कि गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी को वीजा दिए जाने पर लगी रोक जारी रखने को लेकर अमेरिकी विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन को लिखा गया पत्र अमेरिकी सांसदों द्वारा भारत की लोकतांत्रिक चुनावी प्रक्रिया में हस्तक्षेप का प्रयास है।
संगठन ने कहा है कि यह पत्र ऐसे समय लिखा गया है जब न तो मोदी ने अमेरिका के वीजा के लिए आवेदन किया और न ही उनका ऐसा कोई इरादा है। अमेरिका के 25 प्रभावशाली सांसदों द्वारा मोदी को लेकर हिलेरी को लिखे गए पत्र के कुछ दिन बाद ‘ओवरसीज फ्रेंड्स ऑफ बीजेपी-यूएसए’ ने एक बयान में आरोप लगाया है कि ऐसे समय पत्र लिखा जाना अमेरिकी सांसदों द्वारा भारत की लोकतांत्रिक चुनावी प्रक्रिया में हस्तक्षेप का प्रयास है।
अमेरिका ने कल दोहराया था कि मोदी को वीजा जारी करने के संबंध में अमेरिका की नीति में कोई बदलाव नहीं आया है। हिलेरी को अभी सांसदों के पत्र का जवाब देना है। विदेश विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने नाम उजागर नहीं करने की शर्त पर बताया कि हिलेरी द्वारा सांसदों को यही जवाब दिए जाने की संभावना है कि मोदी को वीजा जारी करने को लेकर अमेरिका की नीति में कोई बदलाव नहीं आया है ।
अपने तमाम प्रयासों के बावजूद मोदी के समर्थन में एक भी सांसद का समर्थन जुटाने में विफल रहे ‘ओवरसीज फ्रेंड्स ऑफ बीजेपी-यूएसए’ ने कहा कि वह सचाई और यथार्थ जानने के लिए रिपब्लिकन और डेमोक्रेटिक पार्टी दोनों के सांसदों के साथ मिलकर काम करना जारी रखेंगे और एक सच्चे तथा महान नेता को शैतान के रूप में पेश करने की अंतरराष्ट्रीय साजिश के सामने नहीं झुकेंगे। (एजेंसी)