`सील` कमांडो को था ओसामा को जिंदा पकड़ने का निर्देश

अमेरिकी नौसेना के सील कमांडो दस्ते में शामिल रहे मैट बिसोनेट ने दावा किया है कि उन्हें ऐसे निर्देश मिले थे कि यदि मुमकिन हो तो अल-कायदा प्रमुख को जिंदा पकड़ा जाए।

वॉशिंगटन : अल कायदा के खूंखार आतंकवादी सरगना ओसामा बिन लादेन को पिछले साल पाकिस्तान के ऐबटाबाद शहर में मार गिराने वाले अमेरिकी नौसेना के सील कमांडो दस्ते में शामिल रहे मैट बिसोनेट ने दावा किया है कि उन्हें ऐसे निर्देश मिले थे कि यदि मुमकिन हो तो अल-कायदा प्रमुख को जिंदा पकड़ा जाए।
मैट ने छद्म नाम ‘मार्क ओवेन’ का इस्तेमाल कर ‘नो ईजी डे : दि फर्स्टहैंड अकाउंट ऑफ दि मिशन दैट किल्ड ओसामा बिन लादेन’ नाम की एक बहुचर्चित किताब लिखी है। इस किताब में अमेरिकी सील कमांडो ने कहा है कि ओसामा के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए भेजे गए अमेरिकी सील कमांडो दस्ते को ऐसे निर्देश नहीं मिले थे कि अल कायदा प्रमुख को पकड़े जाने पर मार ही डालना है। उसके अनुसार सील कमांडो को निर्देश दिए गए थे कि यदि मुमकिन हो तो लादेन को जिंदा पकड़ा जाए।
‘सीबीएस न्यूज’ को दिए गए एक साक्षात्कार में मैट ने कहा, ‘निश्चित तौर पर ऐसे निर्देश नहीं मिले थे कि ओसामा को मार ही डालना है।’ उन्होंने कहा, ‘हमारे प्रशिक्षण के दौरान हमें यह साफ-साफ बता दिया गया था कि यदि मौका मिले तो ओसामा को जिंदा पकड़ना है।’ साक्षात्कार के दौरान मैट की मौजूदगी छुपाने के लिए एक मेक-अप कलाकार को तैनात किया गया था। उनकी असल आवाज को भी साक्षात्कार के दौरान पता नहीं चलने दिया गया।
मैट की किताब से अमेरिकी रक्षा विभाग ‘पेंटागन’ नाराज हो गया है। पेंटागन ने धमकी दी है कि वह पूर्व नेवी सील के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करेगा क्योंकि उसने वर्गीकृत सूचनाएं लीक की हैं ।
मैट की यह किताब ब्रिकी के लिए बाजार में कल पेश की गई। (एजेंसी)