close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अंग्रेजी पर राजनाथ के बयान पर राजनीति गर्म

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष राजनाथ सिंह द्वारा अंग्रेजी को लेकर दिए गए कथित बयान पर राजनीति गर्म हो गई है। राजनाथ ने कथित रूप से कहा है कि अंग्रेजी भाषा ने भारत को काफी क्षति पहुंचाई है और अंग्रेजी भाषा जिस तरह से भारतीय संस्कृति पर छा रही है, उससे वह खुश नहीं हैं।

ज़ी मीडिया ब्यूरो
नई दिल्ली : भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष राजनाथ सिंह द्वारा अंग्रेजी को लेकर दिए गए कथित बयान पर राजनीति गर्म हो गई है। राजनाथ ने कथित रूप से कहा है कि अंग्रेजी भाषा ने भारत को काफी क्षति पहुंचाई है और अंग्रेजी भाषा जिस तरह से भारतीय संस्कृति पर छा रही है, उससे वह खुश नहीं हैं।
वहीं, केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री मनीष तिवारी ने राजनाथ सिंह पर निशाना साधा। जबकि संसदीय कार्य राज्य मंत्री राजीव शुक्ला ने राजनाथ के इस बयान को बेतुका बताया और कहा कि भाजपा का पूरा शीर्ष नेतृत्व संकीर्ण मानसिकता का शिकार है।
एक समाचार चैनल के मुताबकि राजनाथ ने गुरुवार को नई दिल्ली में एक समारोह के दौरान कहा, ‘अंग्रेजी भाषा ने भारत को काफी क्षति पहुंचाई है। हम आज कल अपनी संस्कृति और धर्म को भूलने लगे हैं। देश में संस्कृत भाषा बोलने वाले केवल 14,000 लोग ही बचे हैं।’
राजनाथ ने कहा कि अंग्रेजी भाषा का ज्ञान प्राप्त करना बुरा नहीं है लेकिन देश में जिस तरीके से युवाओं का अंग्रेजीकरण हो रहा है, वह खतरनाक है।
राजनाथ पर निशाना साधते हुए तिवारी ने कहा कि भाजपा ने खुद ही अपने विजन डॉक्यूमेंट के लिए अंग्रेजी बोलने वाले लोगों को आउटसोर्स किया है। तिवारी ने पूछा कि भाजपा क्या दिखावा नहीं कर रही है।
राजनाथ के अंग्रेजी वाले बयान पर केंद्रीय मानव संसाधन विकास राज्य मंत्री शशि थरूर और कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने भी निशाना साधा है।