आसाराम हुए खफा, बोले-पानी तो मेरे यार भगवान का है

आध्‍यात्मिक संत आसाराम बापू एक बार फिर अपने बेतुके बोल के चलते विवादों में घिर गए हैं। बीते दिनों महाराष्‍ट्र में होली कार्यक्रम के दौरान पानी की बर्बादी पर उनकी आलोचना हुई थी। अब उन्‍होंने कहा है कि वह किसी के बाप का पानी खर्च नहीं करते। पानी भगवान का है, सरकार का नहीं है। उन्‍होंने यह भी कहा कि वे कहीं भी बारिश करवा सकते हैं।

ज़ी न्‍यूज ब्‍यूरो
अहमदाबाद : आध्‍यात्मिक संत आसाराम बापू एक बार फिर अपने बेतुके बोल के चलते विवादों में घिर गए हैं। बीते दिनों महाराष्‍ट्र में होली कार्यक्रम के दौरान पानी की बर्बादी पर उनकी आलोचना हुई थी। अब उन्‍होंने कहा है कि वह किसी के बाप का पानी खर्च नहीं करते। पानी भगवान का है, सरकार का नहीं है। उन्‍होंने यह भी कहा कि वे कहीं भी बारिश करवा सकते हैं।
आसाराम पहले भी कई बार विवादों में फंसे हैं। उन्होंने कहा कि हम किसी सरकार के बाप से पानी नहीं लेते। दरअसल, होली के अवसर पर उनके द्वारा लाखों लीटर पानी बहाने के बाद जब महाराष्ट्र सरकार की सलाह मीडिया में आई तो उन्होंने कहा कि हम किसी सरकार के बाप का पानी नहीं लेते। बस इतना ही नहीं, लोगों की आस्‍था का मजाक उड़ाते हुए उन्‍होंने भगवान को यार कहा। आसाराम ने कहा कि हम तो यार का पानी बरसवाते हैं। इसके अलावा, उन्‍होंने आगे यह भी कहा कि जहां भी सूखा पड़ा होता है हम बारिश करवा देते हैं।