close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

कांग्रेस का मोदी पर निशाना, कहा- दिल्ली अभी दूर है

‘मधुमक्खी का छत्ता’ संबंधी बयान पर राहुल गांधी के खिलाफ नरेंद्र मोदी के हमले को लेकर कांग्रेस और भाजपा के बीच रविवार को जुबानी तलवारें तन गईं । कांग्रेस के तीन नेताओं ने मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि उसे देशभक्ति पर ‘ज्ञान’ नहीं चाहिए और गुजरात के मुख्यमंत्री की पहुंच से दिल्ली अब भी काफी दूर है।

नई दिल्ली : ‘मधुमक्खी का छत्ता’ संबंधी बयान पर राहुल गांधी के खिलाफ नरेंद्र मोदी के हमले को लेकर कांग्रेस और भाजपा के बीच रविवार को जुबानी तलवारें तन गईं । कांग्रेस के तीन नेताओं ने मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि उसे देशभक्ति पर ‘ज्ञान’ नहीं चाहिए और गुजरात के मुख्यमंत्री की पहुंच से दिल्ली अब भी काफी दूर है।
मोदी पर तीखा हमला बोलते हुए सूचना एवं प्रसारण मंत्री मनीष तिवारी ने स्पष्ट तौर पर गुजरात के मुख्यमंत्री की ओर इशारा करते हुए कहा कि उपमाएं ऊर्जा और परिश्रम के संबंध की प्रतीक हैं और कुछ स्वघोषित देशभक्तों के सिर के ऊपर से पूरी तरह यह बात निकल जाती है।
केंद्रीय मंत्रिपरिषद में तिवारी के सहकर्मी कपिल सिब्बल ने यह कहते हुए मोदी पर निशाना साधा कि भाजपा नेता को राष्ट्रीय राजधानी में आने की जल्दबाजी नहीं करनी चाहिए और उनके लिए अब भी ‘दिल्ली दूर अस्त’ यानी दिल्ली दूर है।
एक अन्य केंद्रीय मंत्री राजीव शुक्ला ने कहा कि कांग्रेस को भाजपा से देशभक्ति का ‘ज्ञान’ नहीं चाहिए क्योंकि इसके किसी भी नेता ने देश की आजादी की लड़ाई नहीं लड़ी थी।
भाजपा प्रवक्ता बलबीर पुंज ने कटाक्ष करते हुए कहा कि कांग्रेस उपाध्यक्ष द्वारा देश की तुलना मधुमक्खी के छत्ते से किया जाना सही है, बशर्ते सत्ताधारी पार्टी के नजरिए से देखा जाए। उन्होंने इस क्रम में मधुमक्खियों की जिंदगी का भी ब्योरा दे डाला।
पुंज ने कहा, ‘कांग्रेस के मुताबिक देश की तुलना मधुमक्खी के छत्ते से किया जाना सही है। मधुमक्खी के छत्ते में क्या होता है ? वहां एक रानी मधुमक्खी होती है और बाकी मधुमक्खियां कड़ी मेहनत कर शहद इकट्ठा करती हैं। शहद का स्वाद कोई और लेता है और रानी मधुमक्खी कोई काम नहीं करती।’
भाजपा प्रवक्ता पुंज ने कहा, ‘इस देश के बारे में कांग्रेस की सोच यही है। यहां रानी मधुमक्खी क्या और कौन है ? लेकिन सामान्य मधुमक्खियां जाहिर तौर पर देश के आम लोग हैं।’ मोदी ने शनिवार को राहुल गांधी को आड़े हाथ लेते हुए कहा था कि उन्हें कांग्रेस के एक नेता की जुबान से यह सुनकर काफी धक्का लगा और बड़ा दुख हुआ कि उन्होंने देश को मधुमक्खी का छत्ता करार दिया।
गुजरात के मुख्यमंत्री ने कहा था, ‘क्या कांग्रेस इसी तरह सोचती है ? मैं कांग्रेस के अपने मित्रों से कहना चाहता हूं कि वे इस देश को मधुमक्खी का छत्ता मान सकते हैं लेकिन हमारे लिए यह देश मां की तरह है।’ मोदी ने कांग्रेस से कहा कि वह ‘मां’ का अपमान न करे।
कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के इतालवी मूल पर निशाना साधते हुए मोदी ने कहा, ‘यदि आप (कांग्रेस) भारत को नहीं समझते तो दूसरों से सीखें लेकिन राष्ट्र का अपमान न करें।’ तिवारी ने ट्विटर पर गुजरात के मुख्यमंत्री की ओर इशारा करते हुए कहा कि उपमाएं ऊर्जा और परिश्रम के संबंध की प्रतीक हैं और कुछ स्वघोषित देशभक्तों के सिर से ऊपर से पूरी तरह यह बात निकल जाती है।
केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री ने कहा कि उत्तराखंड के एक मंदिर के अनुसार ‘भ्रामरी’ (मधुमक्खी) भी देवी का एक अवतार है। (एजेंसी)