दलों की अपील, अनशन न करें अन्ना

सरकार अन्ना को अनशन से रोकने की हर मुमकिन कोशिश कर रही है। कई राजनीतिक दलों ने भी अन्ना से अपील की है कि अन्ना अनशन न करें।

ज़ी न्यूज ब्यूरो
नई दिल्ली : सुप्रसिद्ध गांधीवादी अन्ना हजारे मुंबई के एमएमआरडीए मैदान पर कुछ ही देर में अनशन पर बैठने वाले हैं और ठीक इसी समय लोकसभा में लोकपाल पर बहस भी शुरू होगी। इस बीच सरकार की ओर से अन्ना को मनाने की कोशिशें भी जारी हैं। कांग्रेस के कद्दावर नेता राजीव शुक्ला ने कहा कि अन्ना को अभी इंतजार करना चाहिए। उन्होंने कहा कि सरकारी लोकपाल को बेहद सख्त बनाया गया है।

 

सरकार अन्ना को अनशन से रोकने की हर मुमकिन कोशिश कर रही है। सरकार के दो-दो संसदीय कार्य राज्य मंत्री अन्ना से अनशन नहीं करने की अपील कर रहे हैं। कांग्रेस की ओर से हरीश रावत ने कहा कि अन्ना को अनशन नहीं करना चाहिए और अब बाकी काम सांसदों के विवेक पर छोड़ देना चाहिए। अन्ना की अधिकतर मांगों को मान लिया गया है।

 

टीम अन्ना ने रविवार को चार मांगों की एक चिट्ठी सरकार समेत सभी सांसदों को भेजी थी। इस पर सरकार ने बयान जारी कर कहा है कि सराकर इन चारों मांगों पर कोई आश्वासन नहीं दे सकती है। बस गुजारिश हो रही है कि अन्ना अनशन न करें।

 

समाजवादी पार्टी ने भी कहा है कि अन्ना को संसद की कार्यवाही का इंतजार करना चाहिए। सपा महासचिव मोहन सिंह ने कहा कि अन्ना को अनशन नहीं करना चाहिए वरना आम धारणा बनेगी कि अन्ना के द्वारा संसद पर दवाब बनाया जा रहा है। अन्य दलों ने भी अपने-अपने तरीके से अन्ना को संदेश भेजकर अनशन नहीं करने की अपील की है।

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.
Tags: