close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

दिल्ली गैंगरेप: मुख्य आरोपी रामसिह ने तिहाड़ जेल में खुदकुशी की

दिल्ली गैंगरेप के मुख्य आरोपी राम सिंह ने तिहाड़ जेल में खुदकुशी कर ली है।

नई दिल्ली : राजधानी दिल्ली में पिछले साल 16 दिसंबर को 23 वर्षीय एक लड़की के साथ चलती बस में हुए बर्बर सामूहिक बलात्कार के मुख्य आरोपी राम सिंह ने सोमवार सुबह तिहाड़ जेल की कड़े सुरक्षा इंतजामों वाली एक सेल में कथित तौर पर आत्महत्या कर ली ।
जेल अधिकारियों ने बताया कि 33 वर्षीय राम सिंह ने अपने कपड़ों की मदद से सुबह करीब पांच बजे जेल नंबर तीन में अपनी सेल की ग्रिल से लटक कर खुद को फांसी लगा ली।
गृह राज्य मंत्री आर. पी. एन सिंह ने कहा कि मुख्य आरोपी की आत्महत्या के इस मामले में तिहाड़ जेल के वरिष्ठ अधिकारी जांच का आदेश जारी कर चुके हैं । हम मामले की जांच कर रहे हैं । जेल के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, ‘‘सिंह सेल में अकेला नहीं था । वहां अन्य कैदी भी थे और एक गार्ड भी तैनात था, लेकिन किसी को भी इस बारे में पता नहीं चला ।
सुबह करीब पांच बजे वह लटका पाया गया ।’’ अधिकारी ने कहा कि सिंह का व्यवहार काफी हिंसक था और उसका मूड बार-बार और अचानक बदलता रहता था । उसमें आत्महत्या की प्रवृत्ति भी थी । उन्होंने कहा कि इसी आशंका के चलते उस पर नजर रखी जा रही थी ।
सिंह को नियमित सुनवाई के लिए अदालत के समक्ष पेश किया जाना था । घटना के प्रकाश में आते ही उसे तत्काल जेल अस्पताल ले जाया गया जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया । पोस्टमॉर्टम के लिए उसका शव दीन दयाल उपाध्याय अस्पताल ले जाया जाएगा ।
फॉरेंसिक विशेषज्ञों ने जेल परिसर में जाकर नमूने एकत्र कर लिए हैं । राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष ममता शर्मा ने तिहाड़ जेल की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाते हुए कहा कि यह बहुत ‘‘स्तब्ध करने वाली’’ बात है कि प्रशासन विचाराधीन कैदी की रक्षा नहीं कर सका । उन्होंने मामले की जांच की मांग की ।
तिहाड़ जेल की पूर्व महानिदेशक किरण बेदी ने कहा कि यह केवल जांच से ही पता चलेगा कि उस पर किस तरह की विशेष निगरानी रखी जा रही थी और उस निगरानी का क्या हुआ । ‘‘इस व्यक्ति ने इस निगरानी को कैसे चकमा दे दिया ? मेरा मानना है कि हमें जांच के नतीजे का इंतजार करना चाहिए ।’’ सूत्रों ने बताया कि पिछले कुछ दिनों से सिंह अवसाद में था और कल शाम उसने खाना भी नहीं खाया था ।
सिंह को सोलह दिसंबर की घटना के एक दिन बाद आरके पुरम स्थित उसके घर के पास से गिरफ्तार किया गया था । मामले में उसका भाई मुकेश भी चार अन्य लोगों के साथ आरोपी है ।
लड़की से सिंह ने और उसके पांच साथियों ने (जिनमें एक नाबालिग भी शामिल था) दक्षिण दिल्ली में बलात्कार किया था । उन्होंने बलात्कार से पहले लड़की और उसके पुरुष मित्र को बर्बरता से पीटा भी था । लड़की की 29 दिसंबर को सिंगापुर के एक अस्पताल में मौत हो गई थी ।
सिंह उस बस का चालक था जिसमें लड़की से दुष्कर्म किया गया था । घटना के समय बस को सिंह का भाई चला रहा था । (एजेंसी)