close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

दिल्ली रेप: कार्रवाई में देरी पर पु. कमिश्नर से जवाब तलब, अफसरों का तबादला

सर्वोच्च न्यायालय ने दिल्ली में पांच वर्षीया बच्ची के साथ हुए बलात्कार मामले में कार्रवाई में हुई देरी पर सोमवार को पुलिस कमिश्नर नीरज कुमार से जवाब दाखिल करने के लिए कहा है। जबकि दिल्ली पुलिस के कई वरिष्ठ अधिकारियों का तबादला कर दिया गया है।

ज़ी मीडिया ब्यूरो/एजेंसी
नई दिल्ली : सर्वोच्च न्यायालय ने दिल्ली में पांच वर्षीया बच्ची के साथ हुए बलात्कार मामले में कार्रवाई में हुई देरी पर सोमवार को पुलिस कमिश्नर नीरज कुमार से जवाब दाखिल करने के लिए कहा है। जबकि दिल्ली पुलिस के कई वरिष्ठ अधिकारियों का तबादला कर दिया गया है।
न्यायालय ने जवाब दाखिल करने के लिए नीरज कुमार को एक सप्ताह का समय दिया है।
बिहार के दो युवकों ने राजधानी में एक पांच वर्षीया बच्ची के साथ सामूहिक बलात्कार किया। बाद में दोनों आरोपियों को पुलिस ने बिहार से गिरफ्तार किया।
बच्ची के साथ हुई बलात्कार की इस घटना ने पूर देश को झकझोर कर रख दिया। मामले में दिल्ली पुलिस की लापरवाही की चारों तरफ आलोचना हुई। पीड़ित परिवार ने आरोप लगाया कि मामला दबाने के लिए दिल्ली पुलिस ने 2000 रुपए दिए।
मामले के एक सप्ताह बाद सार्वजनिक रूप से सामने आने और कानून-व्यवस्था बनाए न रखने पर दिल्ली के पुलिस कमिश्नर नीरज कुमार की भी काफी आलोचना हुई। नीरज कुमार के इस्तीफे की मांग को लेकर लोगों ने विरोध-प्रदर्शन किया लेकिन पुलिस कमिश्नर ने अपना इस्तीफा देने से इंकार कर दिया।
दिल्ली पुलिस में हुए फेरबदल में पूर्वी दिल्ली के उप पुलिस आयुक्त का तबादला कर दिया गया। इसी जिले में कुछ दिन पहले एक पांच साल की बच्ची से बलात्कार की बर्बर घटना हुई थी।
प्रभाकर, 2003 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं और वह पूर्वी दिल्ली क्षेत्र के उप पुलिस आयुक्त हैं। उनका प्रधानमंत्री सुरक्षा में तबादला किया गया है।
ऐसे आरोप लगाए गए थे कि स्थानीय पुलिस ने गांधीनगर में पांच साल की बच्ची के अपहरण और उसके साथ हुए बलात्कार के मामले में ढंग से जांच का काम नहीं किया। एक सतर्कता जांच में गांधीनगर पुलिस के थाना प्रभारी को ड्यूटी में लापरवाही का दोषी ठहराया गया है।
प्रभाकर के स्थान पर 2001 बैच के आईपीएस अधिकारी अजय कुमार को लाया गया है जो अभी तक प्रधानमंत्री की सुरक्षा का जिम्मा संभाल रहे थे।
इनके अलावा दक्षिण दिल्ली जिले की 1999 बैच की अधिकारी, पुलिस उपायुक्त छाया शर्मा का तबादला भी मिजोरम कर दिया गया है। बाहरी दिल्ली के डीसीपी बी एस जयसवाल उनका स्थान लेंगे।
गत वर्ष 16 दिसंबर को एक चलती बस में एक 23 वर्षीय युवती से बस में ही बलात्कार किया गया था उस घटना के समय शर्मा जिले की पुलिस प्रमुख थीं। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि प्रभाकर का तबादला बलात्कार की घटना की पृष्ठभूमि में हुआ है और यह स्वाभाविक ही है।