पानी की बर्बादी पर घिरे आसाराम, समर्थकों का मीडियाकर्मियों पर हमला

आसाराम के समर्थकों के एक गुट ने मीडियाकर्मियों पर कथित रूप से हमला किया और उनके उपकरण तोड़ दिए। सूखा प्रभावित महाराष्ट्र में आसाराम द्वारा होली से पहले आयोजित एक समारोह में पानी की बर्बादी की आलोचना से उनके समर्थक संभवत: क्षुब्ध थे।

ज़ी न्‍यूज ब्‍यूरो/एजेंसी
मुंबई : आसाराम के समर्थकों के एक गुट ने मीडियाकर्मियों पर कथित रूप से हमला किया और उनके उपकरण तोड़ दिए। सूखा प्रभावित महाराष्ट्र में आसाराम द्वारा होली से पहले आयोजित एक समारोह में पानी की बर्बादी की आलोचना से उनके समर्थक संभवत: क्षुब्ध थे।
महाराष्ट्र सदन में विधायकों ने आसाराम और उनके अनुयायियों द्वारा पानी की बर्बादी का मुद्दा उठाया। नागपुर नगर निगम ने कहा कि पानी टैंकर के दुरूपयोग के लिए उन्हें एक नोटिस भेजा जा रहा है। बंबई उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश को पत्र लिखकर एक सामाजिक कार्यकर्ता ने आसाराम और आम लोगों द्वारा होली के त्योहार के दौरान पानी बर्बाद किए जाने पर रोक लगाने की मांग की है।
विष्णु गवली नामक इस कार्यकर्ता ने पत्र में मांग की है कि पुलिस आसाराम को होली मनाने और सूखा ग्रस्त महाराष्ट्र के पानी का बड़ा हिस्सा बर्बाद करने से रोके। मुख्य न्यायाधीश मोहित शाह और न्यायाधीश ए. वी. मोहता की खंड पीठ ने गवली से इस मामले में उचित जनहित याचिका दायर करने को कहा है। आलोचना से नाराज आसाराम के समर्थकों ने टेलीविजन चैनलों के संवाददाताओं पर हमला किया जिससे उनके वीडियो कैमरे क्षतिग्रस्त हो गए। रबाले थाना के एक अधिकारी ने कहा कि तीन संदिग्धों को हिरासत में लिया गया है और जांच जारी है।
नवी मुंबई के ऐरोली मैदान में होली से पहले आयोजित समारोह को लेकर आसाराम की आलोचना हो रही है। वह ऐसे समय में इस समारोह का आयोजन कर रहे हैं जब महाराष्ट्र पिछले चार दशक में सबसे भयंकर सूखे से जूझ रहा है। बहरहाल, महाराष्ट्र के गृह मंत्री आरआर पाटिल ने कहा कि सरकार जांच कराएगी कि क्या मीडियाकर्मियों पर किसी भाषण से प्रेरित लोगों ने हमला किया।
उधर, महाराष्ट्र विधानमंडल में आज होली पूर्व समारोहों में कथित तौर पर जल की बर्बादी करने के लिए धार्मिक प्रवचन करने वाले आसाराम बापू की आलोचना की गई जब प्रदेश पिछले चार दशकों के सबसे भीषणतम सूखे का सामना कर रहा है। कांग्रेस पाषर्द संजय दत्त ने आसाराम और उनके अनुयायियों के कल नागपुर के एक समारोह में जल ‘बर्बाद’ करने के मुद्दे को उठाया और कहा कि समारोह में पानी के टैंकरों की आपूर्ति नागपुर नगर निगम ने की थी।
दत्त ने कहा कि आसाराम बापू ने कल नागपुर के कस्तुरचंद पार्क में लाखों लीटर जल होली मनाते हुए बर्बाद कर डाला । यह ऐसे वक्त हुआ जब पूरा महाराष्ट्र भीषण सूखे की चपेट में हैं। उन्होंने जल के दुरूपयोग में शामिल लोगों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। राजस्व मंत्री बालासाहेब थोराट ने कहा कि घटना दोबारा नहीं हो इसके लिए संबंधित अधिकारियों को जरूरी निर्देश जारी किए गए हैं। दत्त ने कहा कि जब इतना सारा पानी बर्बाद किया जा रहा था, आसाराम के भक्त उत्सव मना रहे थे जोकि दुख की बात है।
गौर हो कि आसाराम ने एक दिन पहले नागपुर में होली मनाई थी। इस संबंध में खबर आने के बाद राज्य सरकार ने आसाराम के होली कार्यक्रम पर रोक लगा दी थी। महाराष्‍ट्र का अधिकांश इलाका सूखे की चपेट में है। इसको लेकर प्रदर्शकारी इस उत्सव में पानी की बर्बादी का विरोध कर रहे थे। उन्होंने आसाराम के खिलाफ नारे लगाए तथा कार्रवाई की मांग की। इस पर दोनों पक्षों ने उग्र रूप धारण कर लिया व एक दूसरे पर पथराव किया।
उल्लेखनीय है कि नागपुर के कस्तूरचंद पार्क में रविवार को भक्तों के साथ होली खेलने के लिए बापू ने मंच से पानी के रंगों को चारों और जमकर बरसाया। इसमें लाखों लीटर पानी बर्बाद हो गया।