व्यवस्था परिवर्तन की शुरुआत बस्तर से: रामदेव

योगगुरु स्वामी रामदेव ने कहा कि अब व्यवस्था परिवर्तन का वक्त आ गया है। इसकी शुरुआत बस्तर से होगी। आगामी अप्रैल माह में वे चुनाव में उतरने की रणनीति स्पष्ट कर देंगे।

जगदलपुर : योगगुरु स्वामी रामदेव ने कहा कि अब व्यवस्था परिवर्तन का वक्त आ गया है। इसकी शुरुआत बस्तर से होगी। आगामी अप्रैल माह में वे चुनाव में उतरने की रणनीति स्पष्ट कर देंगे। जिस पार्टी से उनका समर्थन जमेगा उसके प्रचार में सहयोग देंगे। योग शिविर दरअसल जनजागरण शिविर है। योग धर्म के पालन से राष्ट्रधर्म का पालन होगा।
योगगुरु ने बताया कि उनके इस आंदोलन को जनसमर्थन हासिल है। नए राजनीतिक विकल्प की बात उन्होंने स्वीकार की। आम आदमी की पार्टी से कोई ताल्लुकात नहीं होने की बात स्वीकारते कहा कि किसी भी पार्टी से सात्विक गठबंधन किया जा सकता है। धर्म पर आधारित राजनीति की वकालात उन्होंने की। नक्सलवाद लोगों की आक्रोश का नतीजा है। वक्त के साथ हथियार बदल दिए जाने की बात कही।
हैदराबाद में हाल में हुए बम विस्फोट से आहत नजर आए स्वामी रामदेव ने देश के अन्य भागों में भय, भूख, महंगाई, आतंकवाद व नक्सलवाद का कारण सरकार को माना। देश में चहुंओर फैली अराजकता सरकार की देन है यह कहना था तीन दिवसीय प्रवास पर जगदलपुर पहुंचे योगगुरु स्वामी रामदेव का। योग विज्ञान शिविर के आयोजन में पहुंचे पतंजलि योग विज्ञान पीठ के स्वामी रामदेव ने पत्रवार्ता में कहा कि केंद्र में काबिज कांग्रेस समर्थित सरकार को आड़े हाथों लेते जमकर वाग्बाण चलाए। यह सरकार स्वदेशी व देशभक्तों के खिलाफ साजिश रचने वाली सरकार है। बस्तर सहित अन्य राज्यों में फैले नक्सलवाद के खिलाफ सरकार का रवैया कायरतापूर्ण है। नक्सलवाद का कारण सरकार है। गलत नीतियों की वजह से आज आम आदमियों को हथियार उठाने मजबूर कर रही है सरकार। (एजेंसी)