शरद यादव का एनडीए के संयोजक पद से इस्तीफा

बिहार के राज्यपाल से मिलने के बाद जनता दल यूनाइटेड के अध्यक्ष शरद यादव ने प्रेस को संबोधित करते हुए भाजपा-जदयू गठबंधन खत्म होने का ऐलान करने के बाद एनडीए के संयोजक पद से इस्तीफा दे दिया।

ज़ी मीडिया ब्यूरो
नई दिल्ली: बिहार के राज्यपाल से मिलने के बाद जनता दल यूनाइटेड के अध्यक्ष शरद यादव ने प्रेस को संबोधित करते हुए भाजपा-जदयू गठबंधन खत्म होने का ऐलान करने के बाद एनडीए के संयोजक पद से इस्तीफा दे दिया। उन्होंने कहा, गठबंधन टूटने के साथ ही मैं एनडीए संयोजक पद से भी इस्तीफा देता हूं।
भाजपा और जदयू का 17 साल पुराना गठबंधन टूट गया है। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आज (रविवार को) राज्यपाल डीवाई पाटिल से मुलाकात के दौरान यह जानकारी दी। इसके बाद दोपहर 3 बजे अपने घर पर नीतीश कुमार और जदयू अध्यक्ष शरद यादव ने प्रेस कांफ्रेंस की। इस दौरान भाजपा से गठबंधन तोड़ने की औपचारिक घोषणा की गई। शरद यादव ने एनडीए के संयोजक पद से इस्तीफा दे दिया है।
राज्यपाल से मुलाकात से पहले दोपहर 12.30 बजे जदयू नेताओं की बैठक हुई। बैठक में जदयू अध्यक्ष शरद यादव भी मौजूद थे। यादव ने पार्टी सांसदों,विधायकों और मंत्रियों से गठबंधन को लेकर चर्चा की। चर्चा के बाद कड़े शब्दों वाला एक प्रस्ताव पारित किया गया। प्रस्ताव में भाजपा से गठबंधन टूटने की वजहें बताई गई है।
प्रस्ताव में कहा गया है कि भाजपा ने एक ऐसे व्यक्ति (नरेंद्र मोदी) को कमान सौंपी है जिसकी कार्यशैली से देश के धर्मनिरपेक्ष ढांचे को खतरा है। मोदी सभी धर्मों को स्वीकार नहीं है। जदयू के महासचिव केसी त्यागी ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि नरेन्द्र मोदी को प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार बनाने के संकेत के बाद पार्टी का एनडीए में रहने का कोई मतलब नहीं रह जाता।