Breaking News
  • सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि प्राइवेट लैब को कोरोना जांच के लिए टेस्ट फीस लेने की अनुमति नहीं होनी चाहिए
  • मुंबई के बांद्रा के भाभा अस्पताल की 15 नर्सों को क्‍वारंटाइन किया गया
  • कोरोना के बीच डॉक्टरों और मेडिकल स्टाफ की सुरक्षा का मामला, सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि ये लोग योद्धा हैं

नक्सली अपने लोग, उनके प्रति हो मानवीयता: CRPF प्रमुख

केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के प्रमुख दिलीप द्विवेदी ने मंगलवार को कहा कि माओवादी ‘हमारे अपने लोग’ हैं इसलिए उनके प्रति ‘और मानवीयता’ रखनी चाहिए।

नई दिल्ली : केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के प्रमुख दिलीप द्विवेदी ने मंगलवार को कहा कि माओवादी ‘हमारे अपने लोग’ हैं इसलिए उनके प्रति ‘और मानवीयता’ रखनी चाहिए।
नवनियुक्त सीआरपीएफ महानिदेशक द्विवेदी ने हालांकि इस संभावना से इंकार किया कि वामपंथी उग्रवाद प्रभावित इलाकों में विद्रोहियों के खिलाफ सुरक्षाबलों की कार्रवाई में किसी तरह की कोई कमी आएगी।
नक्सल हिंसा प्रभावित नौ राज्यों में सीआरपीएफ के लगभग 85 हजार जवान नक्सल रोधी अभियान में तैनात हैं।
द्विवेदी ने कहा, ‘नक्सली हमारे अपने लोग हैं। वे बाहर के नहीं हैं। हम अपने देश के भीतर ही कार्य कर रहे हैं और सीमा रक्षक बल के रूप में हमें दुश्मन का सामना नहीं करना पड़ रहा है। (माओवादियों के खिलाफ) हमारी कार्रवाई चुनिन्दा आधार पर होनी चाहिए।’
करीब महीने भर पहले सीआरपीएफ का प्रभार संभालने वाले द्विवेदी ने हाल ही में नक्सल हिंसा से गंभीर रूप से प्रभावित छत्तीसगढ़ और झारखंड का दौरा किया था।
उन्होंने कहा, ‘हम सीमा पार से किसी को निशाना नहीं बना रहे हैं और जो मैं महसूस करता हूं, वह यह कि हमें कुछ और मानवीय होना होगा। जब आप अपने ही लोगों से लड़ रहे होते हैं तो मानसिक हिचकिचाहट होती है लेकिन इससे माओवादियों के खिलाफ हमारी तैयारी कम नहीं हुई है।’
उत्तर प्रदेश कैडर के 1978 बैच के आईपीएस अधिकारी द्विवेदी ने कहा कि नक्सल समस्या को समाप्त करने में कुछ समय लगेगा लेकिन उन्हें यकीन है कि अंतत: लक्ष्य हासिल होगा और प्रभावित इलाकों में विकास होगा। (एजेंसी)