close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

सीएमओ के ठिकानों पर छापा, 11 करोड़ की संपत्ति का खुलासा

छत्तीसगढ़ में एंटी-करप्शन ब्यूरो के दल ने राज्य के जांजगीर चांपा जिले में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी के ठिकानों पर छापा मारकर लगभग 11 करोड़ रुपए की संपत्ति का पता लगाया है।

रायपुर : छत्तीसगढ़ में एंटी-करप्शन ब्यूरो के दल ने राज्य के जांजगीर चांपा जिले में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी के ठिकानों पर छापा मारकर लगभग 11 करोड़ रुपए की संपत्ति का पता लगाया है।
एंटी-करप्शन ब्यूरो के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक डी.एम. अवस्थी ने बताया कि ब्यूरो की टीम ने आज राज्य के जांजगीर चांपा जिले के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी रामलाल धृतलहरे के ठिकानों में छापा मारकर 10 करोड़ 87 लाख 6 हजार 500 रुपए की आय से अधिक संपत्ति का पता लगाया। अवस्थी ने बताया कि धृतलहरे के खिलाफ ब्यूरो को भ्रष्टाचार के माध्यम से बड़े पैमाने पर चल व अचल संपत्ति अर्जित करने की जानकारी मिली थी।
जानकारी मिलने के बाद मामले का गोपनीय तौर पर सत्यापन कराया गया। सत्यापन होने के बाद धृतलहरे के खिलाफ भ्रष्टाचार निरोधक अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया तथा आज सुबह जांजगीर स्थित शासकीय आवास में, बिलासपुर जिले के मकानों में तथा कोरबा जिले के मकानों में छापा मारकर तलाशी ली गई। उन्होंने बताया कि तलाशी के दौरान ब्यूरो को बिलासपुर शहर में पत्नी शशिकला धृतलहरे के नाम पर एक करोड़ 75 लाख रुपए का मकान, कोरबा जिले में 85 लाख रुपए का मकान तथा बिलासपुर जिले में सात करोड़ रुपए मूल्य की जमीन के बारे में जानकारी मिली है।
वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि इसके साथ ही धृतलहरे के भारतीय स्टेट बैंक तथा पंजाब नेशनल बैंक के लॉकर से डेढ़ लाख रुपए नगद तथा बिलासपुर जिले के मकान से तीन लाख 20 हजार रुपए मूल्य का सोने-चांदी का आभूषण जब्त किया गया है। उन्होंने बताया कि धृतलहरे ने वर्ष 1980 में असिस्टेंट सर्जन के रूप में नौकरी की शुरुआत की थी। उन्होंने ज्यादातर संपत्ति अपनी पत्नी और बेटे के नाम से खरीदी है। (एजेंसी)