हेमंत सरकार आज विश्वास मत हासिल करने उतरेगी, व्हिप जारी

हेमंत सोरेन के नेतृत्व में गठित झारखंड मुक्ति मोर्चा-कांग्रेस-राजद-निर्दलीय गठबंधन सरकार गुरुवार को झारखंड विधानसभा में विश्वासमत का प्रस्ताव पेश करेगी।

रांची : हेमंत सोरेन के नेतृत्व में गठित झारखंड मुक्ति मोर्चा-कांग्रेस-राजद-निर्दलीय गठबंधन सरकार गुरुवार को झारखंड विधानसभा में विश्वासमत का प्रस्ताव पेश करेगी। उसके दो विधायकों के अभी भी फरार होने के चलते तथा विधानसभा की अध्यक्षता भाजपा के चंद्रेश्वर प्रसाद सिंह के हाथ में होने से चार दिन पुरानी सरकार पर भी संकट के बादल मंडरा रहे हैं जबकि उसे पराजित करने के लिए सभी विपक्षी दलों ने व्हिप जारी कर दिए हैं।
झामुमो के नेता हेमंत सोरेन आज झारखंड विधानसभा में विश्वास मत का प्रस्ताव पेश करेंगे लेकिन जहां उन्हें भाजपा नेता विधानसभाध्यक्ष चंद्रेश्वर प्रसाद सिंह का अनुशासन झेलना महंगा पड़ सकता है, वहीं आपराधिक मामलों में उनके फरार दो विधायकों नलिन सोरेन और सीता सोरेन की अनुपस्थिति भी भारी पड़ेगी। इतना ही नहीं निर्दलीय और छोटे दलों के सात विधायकों के नखरे से भी हेमंत सोरेन को दो-चार होना पड़ रहा है।
झामुमो नेता हेमंत सोरेन ने 13 जुलाई को अपने दो सहयोगी मंत्रियों कांग्रेस के राजेन्द्र सिंह और राष्ट्रीय जनता दल की अन्नपूर्णा सिंह के साथ शपथ ग्रहण की थी। इससे पूर्व उन्होंने राज्यपाल डा. सैयद अहमद के पास नौ जुलाई को सरकार बनाने का दावा पेश करते हुए 82 सदस्यीय विधानसभा में 43 विधायकों के समर्थन की सूची पेश की थी।
इस बीच अर्जुन मुंडा के नेतृत्व में बनी पिछली राज्य सरकार में शामिल जनता दल यूनाइटेड के दोनों विधायकों को उनके केंद्रीय नेतृत्व ने सरकार के विश्वास मत के खिलाफ मतदान के निर्देश दिए हैं। भाकपा माले के एक मात्र विधायक विनोद कुमार सिंह ने बताया कि वह विपक्ष में बैठेंगे और सरकार के खिलाफ मतदान करेंगे।
भाजपा के विधायक दल के नेता और विपक्ष के नेता पूर्व मुख्यमंत्री मुंडा ने स्पष्ट कहा कि वह समूचे विपक्ष को साथ लेकर चलेंगे और यह भी कहा कि हेमंत सोरेन की सरकार आज विधानसभा में ही गिर भी सकती है। मुंडा ने कहा कि हेमंत सोरेन ने झामुमो और झारखंड राज्य को दांव पर लगाकर सौदेबाजी की सरकार गठित की है जो चल नहीं पाएगी। पार्टी ने अपने 18 विधायकों को व्हिप जारी कर विधानसभा में उपस्थित रहने और सरकार के खिलाफ मतदान करने के निर्देश दिए हैं।
ग्यारह विधायकों वाली झारखंड विकास मोर्चा के विधायक दल के नेता प्रदीप यादव ने कहा कि उनकी पार्टी के सभी ग्यारह विधायक सरकार के खिलाफ मतदान करेंगे। उनकी पार्टी ने भी विधायकों को सदन में उपस्थित होने और सरकार के खिलाफ मतदान करने के लिए व्हिप जारी कर दिया है। छह विधायकों वादी आल झारखंड स्टूडेंट्स यूनियन पार्टी के अध्यक्ष सुदेश महतों ने कहा कि उनकी पार्टी ने व्हिप जारी कर अपने सभी विधायकों को सदन में उपस्थित होने और सरकार के खिलाफ मतदान का निर्देश दिया है।