फर्जी वीडियो से अमिताभ नाराज, एक शख्स ने मांगी माफी

अभिनेता अमिताभ बच्चन ने यू्ट्यूब पर जारी एक वीडियो पर नाराजगी जताते हुए कानूनी कार्रवाई की चेतावनी दी है जिसमें यह दिखाने का प्रयास किया गया है कि अमिताभ अगले प्रधानमंत्री के तौर पर नरेंद्र मोदी का समर्थन कर रहे हैं।

नई दिल्ली : अभिनेता अमिताभ बच्चन ने यू्ट्यूब पर जारी एक वीडियो पर नाराजगी जताते हुए कानूनी कार्रवाई की चेतावनी दी है जिसमें यह दिखाने का प्रयास किया गया है कि अमिताभ अगले प्रधानमंत्री के तौर पर नरेंद्र मोदी का समर्थन कर रहे हैं।
अमिताभ बच्चन की ओर से ऑनलाइन विरोध जताये जाने के बाद राजकोट के एक संगीतकार ने इसे यूट्यूब पर अपलोड करने की बात स्वीकार की है और माफी मांगी है।
गुजरात पर्यटन के ब्रांड अंबेसेडर रहे 70 वर्षीय अमिताभ ने कहा कि वीडियो में एक आवाज में छेड़छाड़ की गयी है जो उन्होंने 2007 में ‘लीड इंडिया’ अभियान के लिए दी थी। उन्होंने इस वीडियो पर नाराजगी जताते हुए कहा कि यह गैरकानूनी है और इस पर कड़ी कार्रवाई की जानी चाहिए।
अमिताभ ने अपने ब्लॉग में लिखा, प्रियजनों----फर्जी वीडियो का प्रसार हो रहा है। 2007 में मैंने ‘लीड इंडिया’ अभियान किया था। जहां हमने देश और भारत की महिमा का गुणगान किया था।’ उन्होंने लिखा, ‘किसी ने मेरी आवाज का इस्तेमाल करके फर्जी वीडियो बनाया है। मैंने जो शब्द मूल रूप से बोले, उन्हें गलत तरह से और शरारतपूर्ण कृत्य करते हुए ऐसे दृश्यों के साथ प्रसारित किया गया जिसमें ऐसा संकेत मिलता है कि गुजरात के सम्माननीय मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी का प्रचार हो रहा है।’
मोदी ने बच्चन की चिंताओं को साझा किया और फर्जी वीडियो बनाने वाले से माफी मांगने को कहा। मोदी ने अपने ट्वीट में लिखा, ‘‘बच्चन साहब से सहमत हूं। फर्जी वीडियो के निर्माता को तत्काल कदम उठाना चाहिए और अमिताभजी से माफी मांगनी चाहिए।’’ संगीतकार उत्पल जीवराजानी ने यूट्यूब पर वीडियो डालने की जिम्मेदारी ली है लेकिन इसे बनाने के पीछे अपनी सोच होने से इनकार किया है।
उन्होंने कहा, ‘मुझे इस वीडियो से कोई लेना-देना नहीं है। मैंने इसे व्हाट्सएप पर किसी एक समूह से प्राप्त किया और जब मुझे यह रोचक लगा तो मैंने इसे अपलोड कर दिया।’’ जीवराजानी ने कहा, ‘15 अगस्त को मुझे अमिताभ बच्चन का वीडियो मिला था और मुझे यह बहुत दिलचस्प लगा। इसलिए मैंने इसे अपलोड कर दिया। जब मुझे लगा कि इससे वह और मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी नाराज हो गये हैं तो मैंने दोनों से माफी मांगी और मैंने इसे यूट्यूब से हटा दिया है।’ उन्होंने कहा कि जब से उनके एलबम ‘गुजराती शकीरा’ और ‘गुजराती गंगनम’ लोकप्रिय हो गये तो व्हाट्सएप पर अनेक ग्रुप ने उन्हें जोड़ लिया है।
जीवराजानी के मुताबिक उनका राजनीतिक रूप से भाजपा या कांग्रेस से कोई संबंध नहीं है। बच्चन ने कहा कि उन्होंने संबंधित अधिकारियों को इसकी जानकारी दी है और अपनी डिजिटल टीम को इसके स्रोत का पता लगाने को कहा। (एजेंसी)