close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

फिल्‍म जगत में जो भी मिलता है, लेना पड़ता है: बिपाशा

हॉरर फिल्म श्रृंखला ‘राज’ की दोनों ही फिल्मों में अपने अभिनय के लिए समीक्षकों की प्रशंसा बटोर चुकीं अभिनेत्री बिपाशा बसु जल्‍छ ही एक और हॉरर फिल्म ‘आत्मा’ में दिखने वाली हैं। बिपाशा का कहना है कि उन्हें एक ही तरह के किरदार में बंधने का डर नहीं है। फिल्‍म जगत में जो भी किरदार मिलता है, उसे लेना पड़ता है।

कोलकाता : हॉरर फिल्म श्रृंखला ‘राज’ की दोनों ही फिल्मों में अपने अभिनय के लिए समीक्षकों की प्रशंसा बटोर चुकीं अभिनेत्री बिपाशा बसु जल्‍छ ही एक और हॉरर फिल्म ‘आत्मा’ में दिखने वाली हैं। बिपाशा का कहना है कि उन्हें एक ही तरह के किरदार में बंधने का डर नहीं है। फिल्‍म जगत में जो भी किरदार मिलता है, उसे लेना पड़ता है।
34 वर्षीय बिपाशा ने कहा कि मैं 18 साल की थी जब मैंने अपना कैरियर शुरू किया और मैं मॉडलिंग से बोर हो चुकी थी। बोरियत के चलते ही मैंने पहली फिल्म की थी, जिसको लेकर मेरी बहुत आलोचना हुई। कई लोगों ने तो यहां तक कहा कि मैं ज्यादा ही गैर पारंपरिक हूं, पर मैंने इसका बुरा नहीं माना। कैरियर की शुरूआत में आपके पास विकल्प नहीं होते हैं। जो भी मिलता है लेना पड़ता है। गौर हो कि बिपाशा ने अपने दस साल के फिल्‍मी कैरियर में करीब 50 फिल्में की हैं।
अभिनेत्री ने कहा कि फिल्म आत्‍मा से उनके अभिनय को और विस्तार मिलेगा। उनकी आने वाली फिल्म का निर्देशन सुपर्ण वर्मा ने किया है और इस फिल्म में उनके साथ नवाजुद्दीन सिद्दिकी हैं। बिपाशा ने 13 साल पहले अभिनय की दुनिया में कदम रखा था और उनकी पहली हॉरर फिल्म ‘राज’ थी। उन्होंने कहा कि हालांकि, मुझे लगता है कि मुझे भूत प्रेतों पर आधारित और भी फिल्में करनी चाहिए। मैं अकेली हूं जिसने हर तरह की फिल्में की हैं जैसे कि ‘जिस्म’ की नकारात्मक भूमिका, जिसे कोई भी प्रमुख अभिनेत्री नहीं करना चाहेगी। मैंने हास्य से लेकर थ्रिलर सभी तरह की फिल्में की हैं, जो यह दिखाता है कि मैं एक ही तरह की भूमिका में बंधी नहीं हूं।
बिपाशा ने हालांकि यह माना कि बहुत कम ऐसे निर्देशक हैं जो कलाकारों के लिए अच्छी भूमिकाएं लिखते हों, लेकिन एक अभिनेत्री के तौर पर मैं हर तरह की मनोरंजक भूमिकाएं करना पसंद करती हूं। बिपाशा ने सुपर्ण की तारीफ में कहा कि सुपर्ण थोड़े अलग हैं, उन्होंने न केवल मुझे अच्छी कहानी दी बल्कि एक अच्छी भूमिका भी करने को दी जिसका मुझे लंबे समय से इंतजार था। (एजेंसी)