फिर मंहगाई की मार, डीजल 50 पैसा/लीटर हुआ महंगा

पहले से महंगाई की मार झेल रहे आम लोगों पर फिर से महंगाई डायन और कहर बरपाने को तैयार है। क्योंकि सरकार ने एक बार फिर डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी की है। सूत्रों ने बताया कि डीजल 50 पैसा प्रति लीटर महंगा हो गया है। बढ़ी हुई नई दरें आज आधी रात से लागू हो जाएंगी।

ज़ी मीडिया ब्यूरो
नई दिल्ली: पहले से महंगाई की मार झेल रहे आम लोगों पर फिर से महंगाई डायन और कहर बरपाने को तैयार है। क्योंकि सरकार ने एक बार फिर डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी की है। सूत्रों ने बताया कि डीजल 50 पैसा प्रति लीटर महंगा हो गया है। बढ़ी हुई नई दरें आज आधी रात से लागू हो जाएंगी। फिलहाल पेट्रोल की कीमत में बढ़ोतरी नहीं की गई है। डीजल की कीमत बढ़ने से इसका असर माल ढ़ुलाई पर पड़ेगा। जिससे लोगों की जरुरत की चीजें महंगी हो जाएंगी।
तेल कंपनियों ने डीजल के दाम आज 50 पैसे प्रति लीटर बढा दिए। हालांकि, पेट्रोल के दाम में इस पखवाड़े कोई बदलाव नहीं किया गया है। डीजल के दाम में यह बढ़ोतरी आज मध्य रात्रि से लागू होगी। डीजल के दाम जनवरी के बाद 11वीं बार बढ़े हैं। ताजा मूल्य वृद्धि में स्थानीय ब्रिकी कर या वैट शामिल नहीं है।
दिल्ली में डीजल के दाम में कर सहित बढ़ोतरी 57 पैसे होगी और नए दाम 53.67 रुपए प्रति लीटर रहेंगे। मुंबई में डीजल के दाम 60.08 रुपए से बढ़कर 60.70 रुपए होंगे। इस बीच पेट्रोलियम कंपनियों ने पेट्रोल के दाम में कोई बदलाव नहीं किया है। कंपनियों ने डॉलर की तुलना में रुपए में आई कमजोरी के कारण अनिवार्य हुई 25-30 पैसे की बढ़ोतरी को फिलहाल ग्राहकों पर नहीं डालने का फैसला किया है। सार्वजनिक तेल कंपनियां बीते पखवाड़े में तेल कीमतों तथा मुद्रा विनियम दर के रख के आधार पर हर महीने पहली व 16वीं तारीख को दाम में संशोधन करती हैं।
पेट्रोल के दाम में इससे पहले एक नवंबर को संशोधन हुआ था जब इसके दाम 1.15 रुपए प्रति लीटर घटाए गए थे। दिल्ली में फिलहाल इसके दाम 71.02 रुपए प्रति लीटर हैं। सरकार ने जनवरी में तेल कंपनियों को डीजल के दाम छोटी छोटी किस्तों में बढाने की अनुमति दी थी ताकि वे बढ़ती अंडर रिकवरी (लागत से कम कीमत पर ब्रिकी के कारण होने वाले नुकसान) की कुछ भरपाई कर सकें।
रुपये में गिरावट के चलते डीजल पर अंडर रिकवरी जुलाई अगस्त में बढ़कर 14.50 रुपए लीटर हो गई थी। हालांकि, डीजल के दाम में मासिक बढ़ोतरी तथा रुपए में मजबूती आने पर अंडर रिकवरी घटकर 9.99 रुपए प्रति लीटर रह गई। डीजल के दाम में इस साल अब तक कुल मिलाकर 6.62 रुपए लीटर की बढ़ोतरी की गई है।
इंडियन ऑयल कारपोरेशन ने एक बयान में कहा है कि मौजूदा बढ़ोतरी के बावजूद डीजल पर अंडर रिकवरी या नुकसान 9.99 रुपए प्रति लीटर रह गया है। तेल कंपनियों को सार्वजनिक वितरण प्रणाली के जरिए केरोसीन की ब्रिकी पर 36.20 रुपए प्रति लीटर तथा रसोई गैस (एलपीजी) पर 542.50 रुपए प्रति सिलेंडर (14.2 किलो) का नुकसान हो रहा है।
सार्वजनिक क्षेत्र की आईओसी, भारत पेट्रोलियम तथा हिंदुस्तान पेट्रोलियम को चालू वित्त वर्ष के दौरान अंडररिकवरी मद में कुल नुकसान लगभग 1,39,000 करोड़ रुपए रहने का अनुमान है।
मौजूदा दाम संशोधित दाम बढ़ोतरी
दिल्ली 53.10 53.67 0.57
कोलकाता 57.49 58.08 0.59
मुंबई 60.08 60.70 0.62
चेन्नई 56.61 57.23 0.62