पिछले साल सोना-चांदी का आयात 40 प्रतिशत घटा

समाप्त वित्त वर्ष के दौरान सोना और चांदी का आयात एक साल पहले के मुकाबले 40 प्रतिशत घटकर 33.46 अरब डालर रह गया।

नई दिल्ली : समाप्त वित्त वर्ष के दौरान सोना और चांदी का आयात एक साल पहले के मुकाबले 40 प्रतिशत घटकर 33.46 अरब डालर रह गया। सरकार द्वारा चालू खाते के घाटे को कम रखने के लिये इन कीमती धातुओं के आयात पर कई तरह के प्रतिबंध लगाने की वजह से यह गिरावट आई है।
इससे पिछले वित्त वर्ष 2012-13 में सोना चांदी का कुल आयात 55.79 अरब डालर का हुआ था। मार्च 2014 में देश में दोनों कीमती धातुओं का आयात 17.27 प्रतिशत घटकर 27.58 अरब डालर रह गया, जो पिछले साल इसी माह में 33.33 अरब डालर रहा था। सोने चांदी के आयात में कमी का असर देश के व्यापार घाटे पर भी देखा गया। समाप्त वित्त वर्ष 2013-14 में व्यापार घाटा कम होकर 138.59 डालर रह गया।
इससे पहले देश का चालू खाते का घाटा वर्ष 2012-13 में सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) के समक्ष 4.8 प्रतिशत के रिकार्ड स्तर तक पहुंच गया था। पेट्रोलियम उत्पादों एवं सोने का आयात बढ़ने के कारण देश चालू खाते के घाटे में यह वृद्धि हुई थी। देश में समय विशेष के दौरान आने वाली विदेशी मुद्रा के मुकाबले यदि उस अवधि में बाहर जाने वाली विदेशी मुद्रा की मात्रा अधिक होती है तो ऐसी स्थिति में चालू खाते में घाटा होता है। इस घाटे के बढ़ने से घरेलू मुद्रा पर दबाव बढ़ता है, रपये में गिरावट आती है जिससे आयात महंगा होता है और महंगाई बढ़ती है।
वित्त मंत्री पी. चिदंबरम ने वित्त वर्ष 2013-14 के दौरान चालू खाते का घाटा 35 अरब डालर अथवा सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) का दो प्रतिशत रहने का अनुमान जताया था। उन्होंने कहा था वित्त वर्ष 2012-13 के दौरान देश के चालू खाते का घाटा 88.2 अरब डालर अथवा कुल जीडीपी का 4.8 प्रतिशत रहने का अनुमान है।
सरकार ने सोने का आयात कम करने के लिए इसका आयात शुल्क बढ़ाकर 10 प्रतिशत कर दिया था, जबकि रिजर्व बैंक ने खुले आयात पर अंकुश लगाते हुये इसके आयात को निर्यात के साथ जोड़ दिया था। उल्लेखनीय है कि भारत प्रमुख सोना आयातक देश है। आयातित सोने का ज्यादातर प्रयोग आभूषण बनाने में किया जाता है। वित्तवर्ष 2012-13 के दौरान देश का सोना आयात 830 टन रहा।
वाणिज्य एवं उद्योग मंडल सोने के आयात पर लगे प्रतिबंधों में ढील देने की वकालत कर रहा है ताकि देश से रत्न एवं आभूषणों का निर्यात बढ़ाया जा सके। सोना आयात पर प्रतिबंध के चलते देश से रत्न एवं आभूषणों का निर्यात 8.82 प्रतिशत घटकर 39.52 अरब डालर रह गया। (एजेंसी)