Breaking News
  • कोरोना जल्द खत्म होने वाला नहीं, कोई अस्पताल मरीज को बाहर निकाल नहीं सकता: केजरीवाल
  • जम्मू कश्मीर के कुलगाम में एनकाउंटर, सुरक्षाबलों ने 2 आतंकियों को ढेर किया

भारत निवेश के लिहाज से सुरक्षित जगह : चिदंबरम

वित्त मंत्री पी. चिदंबरम ने आज भारतीय प्रवासी समुदाय को भरोसा दिलाते हुए कहा कि उनका देश निवेश के लिहाज से सुरक्षित स्थान है।

सिंगापुर : वित्त मंत्री पी. चिदंबरम ने आज भारतीय प्रवासी समुदाय को भरोसा दिलाते हुए कहा कि उनका देश निवेश के लिहाज से सुरक्षित स्थान है। चिदंबरम ने भारतीय रुपये की स्थिरता का भी भरोसा दिलाया और कहा कि रुपये के उतार चढ़ाव को नियंत्रित करने के लिए रिजर्व बैंक द्वारा उठाये गये कदमों से अब भारतीय रुपया सही स्तर पर दिखाई दे रहा है।
दक्षिण एशिया प्रवासी सम्मेलन 2013 के उद्घाटन मौके पर वित्त मंत्री ने यहां कहा, ‘हमें लगता है कि रुपये की विनिमय दर आज पहले से बेहतर है और हमें विश्वास है कि उतार-चढ़ाव और सट्टेबाजी काफी हद तक नियंत्रित कर ली गई है।’ इस सम्मेलन 2013 में करीब 1,000 प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया।
चिदंबरम ने कहा कि रिजर्व बैंक ने कई कदम उठाये है, जिनमें से कुछ रुपये के उतार-चढ़ाव को नियंत्रित करने के लिए आपातकालिक कदम हैं। चिदंबरम ने कहा कि दो दिन पूर्व अंतरराष्ट्रीय वित्त निगम (आईएफसी) के रुपया-बांड निर्गम का बाजार में जिस प्रकार स्वागत हुआ उसमें भारतीय बाजार और भारतीय रपये के प्रति निवेशकों का भरोसा झलकता है।
उन्होंने कहा, ‘हालांकि मैं अभी किसी निष्कर्ष पर नहीं पहुंचना चाहता क्यों कि यह शुरूआत है पर रहा हूं, लेकिन यह सब भारत में निवेश करने के लिए शुभ संकेत हैं।’ भारतीय अर्थव्यवस्था में प्रवासी समुदाय की भूमिका के विषय में वित्त मंत्री ने कहा, 2003 से भारत विदेश से प्रेषित धन प्राप्त करने के मामले में पहले नंबर पर है। 1991 में ऐसी रकम दो अरब डालर थी जो बढ़कर 70 अरब डालर सालाना हो गयी है।
दो माह पहले रिजर्व बैंक ने एफसीएनआर बी-1 को आकर्षित करने के लिए विशेष खिड़की खोली थी। मुझे आज आपसे यह बात कहते हुये प्रसन्नता हो रही है कि 30 नवंबर को समाप्त होने वाली इस योजना से अभी तक 16 अरब डालर की प्राप्ति हुयी है। उल्लेखनीय है कि एफसीएनआर बी योजना खाताधारकों को अपनी जमा को विदेशी मुद्रा में बनाए रखने का असर देती है। (एजेंसी)