Zee Rozgar Samachar

बैंक ‘डीफ’ खाते में धन अंतरण के बाद ही कर सकेंगे ब्याज का दावा : रिजर्व बैंक

रिजर्व बैंक ने कहा है कि बैंकों की बिना दावे वाली जमा पूंजी पर ब्याज की अदायगी उसी दिन से की जायेगी जिस दिन बैंक इस राशि का अंतरण ग्राहकों को शिक्षित करने के लिये बनाये गये नये कोष में करेंगे।

मुंबई : रिजर्व बैंक ने कहा है कि बैंकों की बिना दावे वाली जमा पूंजी पर ब्याज की अदायगी उसी दिन से की जायेगी जिस दिन बैंक इस राशि का अंतरण ग्राहकों को शिक्षित करने के लिये बनाये गये नये कोष में करेंगे।

रिजर्व बैंक ने मई में बैंकों से कहा था कि उनके पास बिना दावे का जो धन पड़ा है उसे वह बैंक ग्राहकों को शिक्षित और जागरूक बनाने के लिये गठित ‘डिपॉजिटर एजुकेशन एण्ड अवेयरनेस फंड - डीफ’ में स्थानांतरित कर दें।

रिजर्व बैंक ने यहां जारी एक अधिसूचना में कहा, ‘इस कोष में से दावा करने पर ब्याज की अदायगी यदि कोई बनती है तो वह उस दिन से होगी जिस दिन बिना दावे वाले किसी खाते की बकाया राशि को कोष में स्थानांतरित किया गया और जब उसे ग्राहक अथवा जमापूंजी रखने वालों को भुगतान किया जाता है।’

डीफ कोष की घोषणा रिजर्व बैंक ने सबसे पहले मई 2013 में की थी। कोष बनाने का फैसला बैंकों में रखी बिना दावे वाली पूंजी का इस्तेमाल बैंक ग्राहकों को शिक्षित और जागरूक बनाने के लिये किया गया। जब कोई बैंक खाता 10 साल से संचालित नहीं होता अथवा ऐसी पूंजी जिसपर 10 साल से कोई दावा नहीं किया गया उसे बिना दावे वाली राशि कहा जाता है।

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.