TCS का तिमाही लाभ 34 प्रतिशत बढ़कर 4,702 करोड़ रुपए

देश की सबसे बड़ी साफ्टवेयर निर्यातक टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (टीसीएस) का जुलाई-सितंबर की दूसरी तिमाही का एकीकृत शुद्ध लाभ 34 प्रतिशत बढ़कर 4,702 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। बड़े सौदे हासिल करने तथा रुपये में आई गिरावट से कंपनी का शुद्ध लाभ बढ़ा है। इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में कंपनी ने 3,512 करोड़ रुपये का शुद्ध मुनाफा कमाया था।

नई दिल्ली : देश की सबसे बड़ी साफ्टवेयर निर्यातक टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (टीसीएस) का जुलाई-सितंबर की दूसरी तिमाही का एकीकृत शुद्ध लाभ 34 प्रतिशत बढ़कर 4,702 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। बड़े सौदे हासिल करने तथा रुपये में आई गिरावट से कंपनी का शुद्ध लाभ बढ़ा है। इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में कंपनी ने 3,512 करोड़ रुपये का शुद्ध मुनाफा कमाया था।
तिमाही के दौरान कंपनी की कुल आमदनी 34.3 प्रतिशत के इजाफे के साथ 20,977.24 करोड़ रुपये पर पहुंच गई, जो इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में 15,620.75 करोड़ रुपये रही थी। बंबई शेयर बाजार को भेजी सूचना में कंपनी ने यह जानकारी दी। कंपनी के नतीजे आज बाजार बंद होने के बाद आए। टीसीएस के सभी आंकड़े आईएफआरएस मानदंड पर आधारित हैं।
टीसीएस के मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) एवं प्रबंध निदेशक एन चंद्रशेखरन ने कहा, ‘‘विभिन्न बाजारों में हमें बेहतर मांग मिल रही है। यह हमारे लिए अपने ग्राहकों के साथ रणनीतिक तरीके से भागीदारी का एक विशिष्ट अवसर है।’’
कंपनी के मुख्य वित्त अधिकारी (सीएफओ) राजेश गोपीनाथन ने कहा कि इस दौरान आईटी क्षेत्र की कंपनी ने आठ बड़े करार पर दस्तखत किए। इनमें से दो-दो सौदे बीएफएसआई व दूरसंचार खंड में किए गए। उन्होंने कहा कि रपये में गिरावट की वजह से कंपनी का मार्जिन 3 प्रतिशत सुधर गया। (एजेंसी)