Zee Rozgar Samachar

करवाचौथ के दिन पत्नी को पिलाया तेजाब

करवाचौथ…वो व्रत जिसे एक सुहागन अपने पति की लंबी उम्र के लिए रखती है उसे दिन भर अपने पति के घर लौटने का इंतजार रहता है।

क्राइम रिपोर्टर/ज़ी मीडिया
करवाचौथ…वो व्रत जिसे एक सुहागन अपने पति की लंबी उम्र के लिए रखती है उसे दिन भर अपने पति के घर लौटने का इंतजार रहता है। शाम को जब पति घर लौटता है तो छलनी की आड़ से पहले पति को और फिर चांद को निहारने के बाद व्रत तोड़ती है लेकिन दिल्ली के कल्याणपुरी इलाके में रहने वाली महेश कुमारी ने न तो अपने पति के लिए करवा चौथ का व्रत रखा और ना ही उसकी लंबी उम्र के लिए कोई दुआ मांगी दरअसल जब दूसरी सुहागिनें करवा चौथ के व्रत की तैयारी कर रही थीं उस वक्त महेश अस्पताल में मौत से जंग लड़ रही थी।
जरा सोचिए, पल भर में ही किसी भी चीज को जलाकर राख कर देने वाला तेजाब जब महेश कुमारी के हलक में उतरा होगा तो उसका क्या हाल हुआ होगा? लेकिन महेश के पति को अब भी बीवी की फिक्र कम और इस बात की शिकायत ज्यादा है कि उसने करवाचौथ का व्रत क्यों नहीं रखा।
पत्नी के मौत के मुंह में पहुंच जाने के बाद अब विजय अपने ऊपर लगे आरोपों से इनकार कर रहा है, लेकिन उसके झूठ की पोल खुद इसकी बेटी खोल रही है, जो अपने बाप को बता रही है अपनी मां का गुनहगार।
दिल्ली में जिंदगी पानी से भी सस्ती
पानी सबको चाहिए था लेकिन पहले पानी कौन भरेगा इसी बात को लेकर शुरू हुआ विवाद झगड़ा इस कदर बढ़ा कि पानी के लिए लड़ने वाले लोग, खून के प्यासे हो गए। लेकिन सवाल ये है कि क्या दिल्ली में एक जिंदगी एक बाल्टी पानी से भी सस्ती है?
रिटायर्ड सब इंस्पेक्टर रनवीर सिंह के क़त्ल का गवाह पानी का ये टैंकर रोज की तरह आज भी यहीं खड़ा है महिलाओं की भीड़ भी रोज की तरह ही पानी भरने में मशगूल है लेकिन आज अगर यहां किसी की कमी है तो वो है सिर्फ रनवीर सिंह की पानी की किल्लत किसी के क़त्ल की वज़ह भी हो सकती है, इसके बारे में शायद देश के हुक्मरानों ने कभी सोचा भी नहीं होगा। अगर सोचा होता तो ना ही यहां एक बाल्टी पानी को लेकर विवाद होता और ना ही पानी की जगह किसी का खून बहता।
यूपी पुलिस का बेरहम चेहरा
यूपी पुलिस का बेरहम चेहरा एक बार फिर सामने आया है। तस्वीरें संभल जिले के चंदौसी की हैं। जहां एक दरोगा ने दो मजदूरों की जमकर पिटाई कर दी। मजदूर बेचारे बचने के लिए मिन्नतें करते रहे लेकिन दरोगा साहब को कोई फर्क नहीं पड़ा।
वर्दी के जोश में भरे दारोगा जी ने दे दनादन डंडे बरसाये। मजदूरों का कहना है कि वो भट्टे से ईटों का आर्डर लेकर जा रहे थे, लेकिन अचानक उन्हें दरोगा ने रोका और मारना शुरू कर दिया। ईंट-भट्ठे का मालिक अब इस मामले को राष्ट्रीय मानवाधिनकार आयोग पर ले जाने की तैयारी कर रहा है।

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.