close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

भारत-पाक में बनने वाली भड़काऊ फिल्मों के खिलाफ बॉलीवुड

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के साथ हुई मुलाकात के दौरान बॉलीवुड के लोकप्रिय अभिनेताओं ने इस बात पर जोर दिया कि दोनों देश सुनिश्चित करें कि उनकी सीमा में भवनाओं को भड़काने वाली फिल्में ना बनें। शरीफ के साथ कल शत्रुघ्न सिन्हा, धमेन्द्र और हेमा मालिनी की लंबी बातचीत हुई जिसमें दोनों पड़ोसी देशों के बीच सांस्कृतिक संबंधों को मजबूत बनाने के तरीकों और उपायों पर चर्चा हुई।

नई दिल्ली : पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के साथ हुई मुलाकात के दौरान बॉलीवुड के लोकप्रिय अभिनेताओं ने इस बात पर जोर दिया कि दोनों देश सुनिश्चित करें कि उनकी सीमा में भवनाओं को भड़काने वाली फिल्में ना बनें। शरीफ के साथ कल शत्रुघ्न सिन्हा, धमेन्द्र और हेमा मालिनी की लंबी बातचीत हुई जिसमें दोनों पड़ोसी देशों के बीच सांस्कृतिक संबंधों को मजबूत बनाने के तरीकों और उपायों पर चर्चा हुई।
बैठक के बारे में जानकारी देते हुए सिन्हा ने कहा कि हमने जोर दिया कि दोनों देशों की फिल्मी हस्तियों को आसानी से वीजा दिया जाए और दोनों देशों में शूटिंग की लोकेशन उपलब्ध करायी जाए। भाजपा सांसद सिन्हा ने कहा कि शरीफ भी इस बात से इत्तेफाक रखते हैं कि दोनों देशों के लोगों की पहुंच एक-दूसरे के सिनेमा तक होनी चाहिए और पड़ोसी देशों के कलाकारों को एक-दूसरे की फिल्मों में काम करने का अवसर मिलना चाहिए। शॉटगन ने कहा कि वह और शरीफ पुराने मित्र हैं।
अभिनेता व नेता ने कहा कि हमने पुराने दिनों और भावनात्मक बातें कीं। सिन्हा के संबंध पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति जनरल मोहम्मद जिया-उल-हक के साथ भी बहुत अच्छे रहे हैं। हक की बेटी जेन जिया उन्हें भाई मानती हैं और हर साल ‘राखी’ भी भेजती हैं। सिन्हा ने कहा कि बहन जेन जिया से मिलने के लिए मैं इस साल अगस्त में पाकिस्तान जाने की योजना बना रहा हूं। (एजेंसी)