close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

प्रीति ने कहा- पैसे-पब्लिसिटी के लिए नहीं किया FIR, लड़ाई आत्म-सम्मान की

देश के जानेमाने उद्योगपति नेस वाडिया के साथ हुए विवाद पर अदाकारा और आईपीएल टीम किंग्स इलेवन पंजाब की सह मालकिन प्रीति जिंटा ने सफाई दी है।

प्रीति ने कहा- पैसे-पब्लिसिटी के लिए नहीं किया FIR, लड़ाई आत्म-सम्मान की

ज़ी मीडिया ब्यूरो

मुंबई: देश के जानेमाने उद्योगपति नेस वाडिया के साथ हुए विवाद पर अदाकारा और आईपीएल टीम किंग्स इलेवन पंजाब की सह मालकिन प्रीति जिंटा ने सफाई दी है। प्रीति जिंटा ने सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक पर कहा है कि यह (नेस वाडिया के साथ विवाद) लड़ाई पैसे और पब्लिसिटी के लिए नहीं है बल्कि यह आत्मसम्मान के लिए लड़ाई है।

उन्होंने कहा कि आईपीएल शुरू से ही मेरा ड्रीम प्रोजेक्ट रहा है। मैंने सिर्फ अपना ही नहीं नेस वाडिया के हिस्से का पांच करोड़ भी खुद ही दिया था।  ईमानदारी से कहूं तो उन्होंने ये पैसे दो महीने बाद लौटाए जरूर थे लेकिन बिना किसी प्रीमियम के। इसलिए मुझे लगता है कि पैसों की बात अब खत्म हो जाएगी। प्रीति ने कहा है कि गो एयर का कमर्शियल भी मैंने मुफ्त में किया था और टीवी रिएलिटी शो कौन बनेगा करोड़पति से जो पैसे मैंने कमाए थे वो वाडिया चिल्ड्रेन हॉस्पिटल को दान में दे दिया था।

प्रीति जिंटा ने आईपीएल सीटों पर झगड़े से लेकर नेस वाडिया की मां के अपमान की बात को भी गलत बताया है। नेस वाडिया ने उन पर आरोप लगया था कि आईपीएल के हर मैच में प्रीति जिंटा सारी सीटों पर कब्जा कर लेती थीं और उनकी मां के साथ भी गलत बर्ताव किया गया था। प्रीति ने इसपर कहा है कि पूरे आईपीएल में मैंने मेरी लगभग सारी सीटें खिलाड़ियों के परिवारवालों को दे दीं इसलिए सभी सीटों पर कब्जा करने का आरोप पूरी तरह गलत है और किसी की मां का अपमान करने का तो सवाल ही नहीं उठता क्योंकि मैं अपना नाम भूल सकती हूं लेकिन शिष्टाचार नहीं।

इस विवाद को निजी बनाए जाने पर प्रीति ने लिखा है, 2009 में ही यह (प्रीति और नेस वाडिया का) रिलेशनशिप  टूट गया था और उस समय हुए किसी भी घटना के लिए और किसी पर्सनल मैटर के लिए मैं पुलिस के पास नहीं गई लेकिन ब्रेकअप के 6 साल बाद अब यह पर्सनल मैटर नहीं है।

प्रीति ने नेस वाडिया के खिलाफ की गई एफआईआर पर भी लिखते हुए कहा कि 'मैंने पुलिस में एफआईआर क्यों लिखाई, वह इसलिए क्योंकि पिछले कुछ सालों में कई बार चेतावनी देने के बाद मेरे पास और कोई दूसरा चारा नहीं बचा था। कि शारीरिक हिंसा और आक्रामक बर्ताव बर्दाश्त नहीं किया जाना चाहिए भले कोई अमीर हो या गरीब, पुरुष हो या महिला, सेलिब्रिटी हो या नहीं।'

(एजेंसी इनपुट के साथ)