`रोग` पोस्टर अश्लीलता मामले में पूजा की लड़ाई जारी

पूजा भट्ट की फिल्म `रोग` साल 2005 में प्रदर्शित हुई थी लेकिन इसके पोस्टर में अश्लीलता मामले की मुश्किलें आज भी चल रही हैं।

मुंबई: पूजा भट्ट की फिल्म `रोग` साल 2005 में प्रदर्शित हुई थी लेकिन इसके पोस्टर में अश्लीलता मामले की मुश्किलें आज भी चल रही हैं। पूजा अभी भी इस पर फैसले का इंतजार कर रही हैं, जबकि पोस्टर को अनापत्ति प्रमाणपत्र (एनओसी) मिल चुका था। पूजा ने मंगलवार को ट्विटर पर लिखा कि अपने नियमित अड्डे अदालत में हूं। सभी से एनओसी प्राप्त करने वाली मेरी फिल्म `रोग` के पोस्टर में अश्लीलता मामले की सुनवाई का इंतजार कर रही हूं।
उन्होंने बाद में ट्वीट किया कि चाहे निर्माताओं को पूरे प्रचार के लिए उनके एसोसिएशन और सेंसर बोर्ड से एनओसी प्राप्त कर ली हो, वे अभी भी अदालत को घसीट रहे हैं। लेकिन पूजा को उम्मीद है कि मामला जल्दी ही सुलझ जाएगा।
उन्होंने लिखा कि मैं इसे धर्य और विश्वास से पा लूंगी। लेकिन जब मैं अपने आसपास न्याय की मांग करते हताश चेहरे देखती हूं तो निराश हो जाती हूं। गौरतलब है कि `रोग` के प्रचार पोस्टर दक्षिण अफ्रीकी मॉडल एलिना हम्मान को कम कपड़ों में दिखाने के लिए जनवरी 2005 में पूजा पर मामला दर्ज किया गया था।
सामाजिक कार्यकर्ता विनोद जैन द्वारा पूजा और उनकी कंपनी फिश आई नेटवर्क प्राइवेट लिमिटेड के खिलाफ दर्ज किए गए इस मामले को पर्याप्त सबूतों के अभाव में अदालत ने मामले को बंद कर दिया था। जनवरी 2011 में सत्र अदालत ने मामले को दोबारा खोला और मजिस्ट्रेट अदालत के आदेश को खारिज कर दिया था। हालांकि मामले के निपटारे के लिए नवंबर 2012 में पूजा ने बॉम्बे उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाया था। (एजेंसी)