सूरत में दो बहनों से रेप का आरोपी नारायण साईं पंजाब से गिरफ्तार

दो महीने से फरार चल रहे यौन उत्‍पीड़न के आरोपी नारायण साईं को गिरफ्तार कर लिया गया है।

ज़ी मीडिया ब्यूरो
नई दिल्ली: दो महीने से फरार चल रहे यौन उत्‍पीड़न के आरोपी नारायण साईं को गिरफ्तार कर लिया गया है। नारायण साईं को जिस वक्त गिरफ्तार किया गया उस वक्त वह एक सिख की वेशभूषा में था। पुलिस से बचने के लिए उसने यह वेशभूषा धारण की हुई थी।
‘नारायण साईं को दिल्ली-हरियाणा सीमा से गिरफ्तार किया गया है। उसके एक सहयोगी हनुमान को भी उसके साथ गिरफ्तार किया गया है। दिल्ली पुलिस के सूत्रों ने कहा कि गिरफ्तारी से बचने के लिए उसने सिख जैसा वेश बना रखा था। अहमदाबाद में राज्य पुलिस महानिदेशक प्रमोद कुमार ने कहा कि साईं 58 दिनों से फरार था।
बाद में रिज रोड स्थित आश्रम के प्रभारी धर्मेंद्र पेरियार उर्फ धर्मेश को साईं को राजधानी से निकालने में मदद करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया। सूरत पुलिस ने बलात्कार, यौन उत्पीड़न, अवैध रूप से बंधक बनाना और अन्य आरोपों की दो शिकायतें दर्ज की थीं। एक शिकायत आसाराम के खिलाफ थी और एक साईं के खिलाफ। दोनों बहनों में से छोटी बहन ने साईं के खिलाफ शिकायत दर्ज कराते हुए आरोप लगाया था कि उसने वर्ष 2002 से 2005 तक लगातार उसका यौन उत्पीड़न किया। उस दौरान पीड़िता सूरत आश्रम में रह रही थी।
बड़ी बहन ने अपनी शिकायत में आसाराम के खिलाफ शिकायत दर्ज कराते हुए आरोप लगाया है कि उसने वर्ष 1997 से 2006 के बीच लगातार उसका यौन उत्पीड़न किया। उस समय पीड़िता अहमदाबाद के बाहरी इलाके में बने आसाराम के आश्रम में रह रही थी। नाबालिग का यौन उत्पीड़न करने के आरोप में आसाराम को सितंबर में गिरफ्तार किया गया था और उसके बाद से वह जोधपुर जेल में न्यायिक हिरासत में है।