कांग्रेस नेताओं ने सोनिया, राहुल के नेतृत्व में भरोसा जताया

प्रियंका गांधी को राजनीति में आगे लाने की उठ रही मांग के बीच वरिष्ठ कांग्रेस नेताओं ए के एंटनी और कमलनाथ ने शनिवार को पार्टी संचालन को लेकर सोनिया गांधी और राहुल गांधी के नेतृत्व में भरोसा जताया।

नई दिल्ली : प्रियंका गांधी को राजनीति में आगे लाने की उठ रही मांग के बीच वरिष्ठ कांग्रेस नेताओं ए के एंटनी और कमलनाथ ने शनिवार को पार्टी संचालन को लेकर सोनिया गांधी और राहुल गांधी के नेतृत्व में भरोसा जताया।
एंटनी ने यहां संवाददताओं से कहा, ‘‘वे हमारे शीर्ष नेता हैं। वे हमारे नेता बने रहेंगे। वे निर्विवाद नेता हैं। सोनिया गांधी पार्टी की सुनिश्चित प्राधिकारी हैं। राहुल दूसरे नम्बर के नेता हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ये पार्टी के सभी वर्गों के बीच सबसे स्वीकार्य नेता हैं। हम उनके नेतृत्व में इन सभी मुश्किलों से पार पा लेंगे।’’ प्रियंका गांधी के नेतृत्व भूमिका के बारे में पूछे गए सवाल पर एंटनी ने कहा कि वह कांग्रेस पार्टी का हिस्सा हैं।
अलग बोलते हुए कमलनाथ ने कहा कि राहुल गांधी द्वारा लोकसभा में नेता प्रतिपक्ष का पद स्वीकार नहीं करने के मद्देनजर, सोनिया गांधी को इसे संभालना चाहिए। लोकसभा में विपक्ष के नेता के रूप में कमलनाथ के नाम की चर्चा है।
कमलनाथ ने कहा, ‘‘मैं नहीं मानता कि उन्हें (राहुल गांधी) अनिच्छुक होना चाहिए क्योंकि वह वास्तव में संसद के मामलों में आगे रहना चाहते थे। राहुल एक बहुत ही प्रभावी भूमिका निभा सकते हैं। यदि वह वहां नहीं होने का निर्णय करते हैं तो मेरा मानना है कि सोनिया गांधी आदर्श विकल्प होनी चाहिए।’’ उन्होंने यह बात इस सवाल के जवाब में कही कि क्या राहुल गांधी विपक्ष का नेता बनने को लेकर अनिच्छुक हैं। कमलनाथ ने यद्यपि कहा कि वह पार्टी अध्यक्ष की इच्छा अनुसार ‘‘कोई भी जिम्मेदारी’’ लेने को तैयार हैं।
लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की हार के बाद पार्टी के भीतर राहुल के खिलाफ उठने वाली आवाज के बारे में पूछे जाने पर एंटनी ने कहा, ‘‘हार के लिए हमारी सामूहिक जिम्मेदारी है। हम किसी एक को इसके लिए जिम्मेदार नहीं ठहरा सकते..यह निर्थक है।’’ उन्होंने स्वीकार किया कि पार्टी में नेतृत्व के खिलाफ ‘‘आवाजें उठ रही हैं’’। चुनाव में हार के बाद ऐसा होना स्वाभाविक हैं।’’ एंटनी ने कहा कि भाजपा युवाओं की आकांक्षाओं पर ध्यान देने और उन्हें भरोसे में लेने में सफल रही। उन्होंने कहा कि इतनी पुरानी पार्टी को खारिज नहीं किया जा सकता और वह वर्तमान स्थिति से वापसी करेगी।
उन्होंने कहा, ‘‘हम पढ़ रहे हैं कि हमें चुनाव में क्यों नकार दिया गया। हम वापसी करेंगे। कभी भी कांग्रेस को खारिज नहीं किया जा सकता। यह देश की सबसे पुरानी पार्टी है।’’ (एजेंसी)