नरेंद्र मोदी के न्योते पर पाक प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के भारत आने पर फैसला आज

नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण के मद्देनजर पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के भारत आने पर फैसला अब शुक्रवार को लिया जाएगा।

ज़ी मीडिया ब्यूरो/संजीव कुमार दुबे
नई दिल्‍ली/इस्लामाबाद : नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण के मद्देनजर पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के भारत आने पर फैसला अब शुक्रवार को लिया जाएगा।

पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय के सूत्रों ने कहा कि नवाज शरीफ के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने के बारे में शुक्रवार को फैसला किए जाने की संभावना है। पाक सरकार की बैठक शुक्रवार सुबह होगी और इसमें उनके दौरे के बाबत तय किया जाएगा। वहीं, पाक विदेश मंत्रालय ने शपथ ग्रहण समारोह के लिए न्‍यौता मिलने की पुष्टि की है।
इससे पहले, पाकिस्तान सरकार ने साफ किया कि उसे मोदी के शपथ ग्रहण के मद्देनजर भारत की तरफ से आया न्योता कबूल है। पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने आज कहा था कि प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के समारोह में दिल्ली जाने के मसले पर गुरुवार शाम फैसला होगा।
पाकिस्तान ने कहा था कि सोमवार को नरेंद्र मोदी द्वारा प्रधानमंत्री का पदभार ग्रहण करने के बाद वह भारत के साथ 'सार्थक वार्ता' की उम्मीद करता है। शरीफ गुरुवार को यह निर्णय लेंगे कि वह मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होंगे या नहीं।
विदेश विभाग की प्रवक्ता तसनीम असलम ने संवाददाताओं को बताया कि हम उम्मीद करते हैं कि नई सरकार के प्रभार ग्रहण करने के बाद भारत एवं पाकिस्तान के बीच सार्थक वार्ता शुरू की जा सकेगी। पाकिस्तान सरकार की विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता तसनीम असलम ने भारत के न्योते की पुष्टि करते हुए कहा कि इसपर विचार जारी है और फैसला गुरुवार शाम तक होगा। उन्होंने कहा कि दोनों देशों के बीच संवाद जारी रहेगा ऐसी उम्मीद है। तसनीम ने कहा कि उम्मीद है कि नई सरकार शांति बहाली के प्रयासों पर ध्यान देगी। गौर हो कि भारत ने पाकिस्तान को मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में आने का न्योता भेजा है।
ऐसा पहली बार है कि भारत के प्रधानमंत्री पद के शपथ ग्रहण समारोह में दक्षेस देशों के नेताओं को आमंत्रित किया गया है। करजई, राजपक्षे और ताबगे ने शपथ समारोह में आने का संकेत दिया है और अन्य की प्रतिक्रिया की अभी प्रतीक्षा है।
पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ, श्रीलंका के राष्ट्रपति महिंदा राजपक्षे, बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना, अफगानिस्तान के राष्ट्रपति हामिद करजई, भूटान के प्रधानमंत्री शेरिंग तोबगे, नेपाल के प्रधानमंत्री सुशील कोइराला और मालदीव के राष्ट्रपति अब्दुल्ला यामीन अब्दुल गय्यूम के लिए उन देशों के विदेश सचिवों को निमंत्रण भेजे गए हैं।
गौर हो कि नरेंद्र मोदी 26 मई की शाम 6 बजे अपने कैबिनेट के साथ प्रधानमंत्री पद की शपथ लेंगे। शपथ ग्रहण समारोह राष्ट्रपति भवन के प्रांगण में होगा। इस समारोह में तीन हजार मेहमानों को बुलाया गया है। लोकसभा चुनाव में जीत के बाद पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने नरेन्द्र मोदी को बधाई देते हुए उन्हें पाकिस्तान आने का न्योता दिया था।
दक्षेस देशों में भारत के अलावा पाकिस्तान, बांग्लादेश, भूटान, नेपाल, श्रीलंका, अफगानिस्तान और मालदीव शामिल हैं। इससे पहले लोकसभा चुनाव में मोदी की अगुवाई में भाजपा की जबर्दस्त जीत की बधाई देते हुए पकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने उन्हें पाकिस्तान आने का निमंत्रण दिया था। (एजेंसी इनपुट के साथ)

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.