close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

देश भर में धमूधाम से मनाई गई दिवाली

देश भर में प्रकाश पर्व दिवाली का बड़ी धूमधाम से मनाया गया। इस मौके पर रंग बिरंगे पटाखों से जहां आसमान जगमग हो गया वहीं लोगों ने घरों में दीए जलाए और आपस में मिठाइयों तथा अन्य उपहार बांटे।

नई दिल्ली : देश भर में प्रकाश पर्व दिवाली का बड़ी धूमधाम से मनाया गया। इस मौके पर रंग बिरंगे पटाखों से जहां आसमान जगमग हो गया वहीं लोगों ने घरों में दीए जलाए और आपस में मिठाइयों तथा अन्य उपहार बांटे। सीमा पर दिवाली का जश्न देखा गया। बच्चे और युवाओं में दिवाली का विशेष उत्साह देखा गया और वे पटाखे चलाते और आतिशबाजी करने में मग्न रहे। लोगों ने अपने सगे संबंधियों और पड़ोसियों को दीपावली की शुभकामनाएं दीं। इसके लिए लोगों ने एसएमएस और सोशल नेटवर्किंग साइटों का भी सहारा लिया। लोगों ने एक दूसरों को मिठाइयां और अन्य उपहार भी दिए। लोगों ने विभिन्न प्रकार की रोशनियों से अपने घरों को सजाया और घरों तथा मंदिरों में जाकर पूजा अर्चना की। लंकापति रावण को परास्त कर भगवान राम के वापस अयोध्या लौटने के मौके पर दीपावली मनायी जाती है।
राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में भी लोगों ने पारंपरिक श्रद्धा एवं उल्लास के साथ दीपावली मनायी। लोगों ने रंगोलियों और फूलों से अपने घरों और दुकानों को आकषर्क तरीके से सजाया तथा दीप जलाए। सुबह से ही लोग अपने घरों को दीया और रंगोली से सजाने में लगे रहे। लोग अपने रिश्तेदारों और पड़ोसियों से मिठाइयों एवं तोहफों का आदान प्रदान करते देखे गए। दिल्ली में अग्निमशन विभाग को रात के समय आग से संबंधित 75 फोन कॉल मिले, हालांकि कोई बड़ी घटना नहीं हुई है। विभाग को पास ये ये कॉल शाम छह बजे आठ बजे के बीच आईं।
अमृतसर में हजारों श्रद्धालुओं ने स्वर्ण मंदिर में मत्था टेका। इस मौके पर स्वर्ण मंदिर को आकषर्क तरीके से सजाया गया था। इस दिन लंगर का भी आयोजन किया गया। दिवाली के ही दिन 1620 में मुगल बादशाह जहांगीर ने सिखों के छठे गुरू हरगोविन्द साहिब को ग्वालियर किले से रिहा किया था। शुरू में दिवाली मनाए जाने को लेकर अनिश्चितता बनी हुयी थी क्योंकि इसकी तारीखें 1984 में हुए सिख विरोधी दंगों की तारीखों से मिल रही थीं। अकाल तख्त ने घोषणा की कि विशेष व्यवस्थाओं के साथ सामान्य रूप से दिवाली मनायी जाएगी। स्वर्ण मंदिर प्रबंधन के अनुसार दिवाली के मौके पर करीब एक करोड़ रूपए चढ़ाए गए। उधर भारत और पाकिस्तान के सुरक्षा बलों ने आज अटारी सीमा पर एक दूसरे को मिठाइयां दीं। सीमा सुरक्षा बल के कार्यकारी डीआईजी डेवी जोसेफ ने अन्य अधिकारियों एवं जवानों के साथ अपने पाकिस्तानी समकक्षों को विभिन्न प्रकार की पारंपरिक भारतीय मिठाइयां भेंट की।
पाकिस्तानी रेंजर के विंग कमांडर मोहम्मद अशीर खान ने भारतीय जवानों को पाकिस्तानी मिठाइयां भेंट की। वायुसेना प्रमुख एनएके ब्राउन ने आज अंडमान एवं निकोबार में वायुसैन्य कर्मियों के सथ दिवाली का पर्व मनाया। ब्राउन ने पोर्ट ब्लेयर पहुंचने के बाद सुनामी स्मारक पर श्रद्धांजलि दी। साल 2004 की सुनामी मारे गए लोगों की याद में यह स्मारक बनाया गया है। ब्राउन ने वायुसेना के कर्मियों से बात की। उनके साथ उनकी पत्नी किरण ब्राउन भी थीं।
पटना हाल में हुए सिलसिलेवार धमाके से बेपरवाह बिहार वासियों ने सुरक्षा के व्यापक प्रबंध के बीच प्रकाश का पर्व दिवाली आज हषरेल्लास के साथ मनसया। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने दिवाली के अवसर पर आज शाम अपने हाथों से पटना के एक अणे मार्ग स्थित अपने सरकारी आवास पर दीप प्रवज्वलित किए।
वहीं भाजपा के वरिष्ठ नेता और पूर्व मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा कि पटना में हुए सिलसिलेवार धमाके में कई लोगों की जान और कई के घायल होने से वे दुखी हैं इसलिए वे इसबार दिवाली नहीं मना रहे हैं। हैदराबाद के एरानमंजिज इलामें पटाखे के कारा एक झोपड़ी में आग लग जाने से एक महिला की मौत हो गई। यह घटना दिन में करीब डेढ़ बजे हुई। महिला की पहचान के. नागमणि के रूप में हुई है।
देश के अन्य हिस्से से भी पारंपरिक श्रद्धा एवं उत्साह के साथ दिवाली मनाए जाने की खबरें हैं। बड़ी संख्या में लोग मंदिरों में जाकर पूजा अर्चना की। इस अवसर पर शहर के बाजारों और भीड़ भाड़ वाले स्थानों पर सुरक्षा के पुख्ता बंदोबस्त किए गए हैं। राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, उप राष्ट्रपति हामिद अंसारी और प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने इस मौके पर लोगों को शुभकामनाएं दी हैं। (एजेंसी)