गुजरात पुलिस बल में महिलाओं को 33 फीसदी आरक्षण

गुजरात की पहली महिला मुख्यमंत्री आनंदीबेन पटेल ने राज्य पुलिस बल में महिलाओं के लिये 33 प्रतिशत आरक्षण की घोषणा की।

गांधीनगर : गुजरात की पहली महिला मुख्यमंत्री आनंदीबेन पटेल ने राज्य पुलिस बल में महिलाओं के लिये 33 प्रतिशत आरक्षण की घोषणा की।

पटेल ने आज कहा ‘ समाज में महिलाओं की स्थिति बेहतर करने के लिये उन्हें सशक्त बनाने की जरूरत है। इसलिये हमारी सरकार ने पुलिस भर्ती में महिलाओं को 33 प्रतिशत आरक्षण देने का फैसला किया है।’ गांधीनगर के करई में स्थित गुजरात पुलिस अकादमी में 97सशस्त्र पुलिस उपनिरीक्षकों (पीएसआइ) और 39 खुफिया अधिकारियों (आईओ) की पासिंग आउट परेड में भाग लेने के बाद पटेल मीडिया से मुखातिब थीं।

अकादमी में प्रशिक्षित अधिकारियों को मुख्य अतिथि के तौर पर संबोधित करते हुये मुख्यमंत्री ने कहा कि पूरे देश में गुजरात में अपराध दर सबसे कम है।

गुजरात में बेहतर वातावरण बनाये रखने के लिये गुजरात पुलिस की प्रशंसा करते हुये पटेल ने कहा ‘ विकास के लिये शांति और सांप्रदायिक सौहार्द सबसे जरूरी है। गुजरात में पिछले दस साल में कोई बड़ा सांप्रदायिक संघर्ष नहीं हुआ जिसके कारण हम तेजी से विकास कर सके। गुजरात भारत का सबसे सुरक्षित राज्य है।’

पटेल ने कहा ‘ हमारे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ‘रक्षा शक्ति’ के सुदृढ़करण पर बल दिया है। हमारे पास इस दिशा में समर्पित तीन विश्वविद्यालय रक्षा शक्ति विश्वविद्यालय, फोरेंसिक विज्ञान विश्वविद्यालय और कानून विश्वविद्यालय है।’ उन्होंने कहा ‘इस अकादमी ने पुलिसकर्मियों के प्रशिक्षण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। गोवा सरकार ने अपने 87 नये पुलिस उपनिरीक्षकों को प्रशिक्षण के लिये यहां भेजा है।