शपथ ग्रहण समारोह में SAARC के सभी देशों का प्रतिनिधित्व गर्व का अवसर: जेटली

नरेन्द्र मोदी के सोमवार को प्रधानमंत्री पद की शपथ लेने के समारोह में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ सहित भारत के पड़ोसी देशों के संगठन दक्षेस के सभी सरकार प्रमुखों को आमंत्रित करने पर खुशी जताते हुए भाजपा नेता अरूण जेटली ने आज कहा कि यह दुनिया के सामने भारतीय लोकतंत्र और उसकी शक्ति को दर्शाता है।

नई दिल्ली : नरेन्द्र मोदी के सोमवार को प्रधानमंत्री पद की शपथ लेने के समारोह में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ सहित भारत के पड़ोसी देशों के संगठन दक्षेस के सभी सरकार प्रमुखों को आमंत्रित करने पर खुशी जताते हुए भाजपा नेता अरूण जेटली ने आज कहा कि यह दुनिया के सामने भारतीय लोकतंत्र और उसकी शक्ति को दर्शाता है।
जेटली ने कहा कि यह शपथ समारोह ‘एक लोकतांत्रिक अवसर है। इसे देशों के बीच के द्विपक्षीय मुद्दों के चश्मे से नहीं देखा जाना चाहिए।’ भाजपा नेता ने अपने ब्लाग में कहा, भारत के लोकतंत्र की सफलता के जश्न में हमारे पड़ोसी देशों के नेताओं को आमंत्रित करना लोकतंत्र और क्षेत्र के देशों से अधिक से अधिक आपसी मेल मिलाप बढ़ाने के भारत के नजरिए को दर्शाता है।
पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ सहित दक्षेस के अन्य महत्वपूर्ण नेताओं में श्रीलंकाई राष्ट्रपति महिंदा राजपक्षे, अफगानिस्तान के राष्ट्रपति हामिद करजई, भूटान के प्रधानमंत्री शेरिंग तोबगे, नेपाल के प्रधानमंत्री सुशील कोइराला और मालदीव के राष्ट्रपति अब्दुल्ला यामीन अब्दुल गयूम समारोह में शामिल होने की पुष्टि कर चुके हैं। दक्षेस देशों के अलावा मारीशस के प्रधानमंत्री नवीन रामगुलाम भी शपथ समारोह में उपस्थित होंगे।
जेटली ने कहा, 2014 का लोकसभा चुनाव भारत के लोकतंत्र का एक बड़ा जश्न साबित हुआ है। यह विश्व के सबसे बड़े लोकतंत्र का चुनाव था। उन्होंने कहा कि इतने बड़े चुनाव का शांतिपूर्वक संपन्न होना और उसके जरिए लोकतांत्रिक तरीके से सत्ता परिवर्तन होना भारत के लिए गर्व का अवसर है।
(एजेंसी)

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.