Breaking News

वामदलों ने भागवत के संबोधन का सीधा प्रसारण करने की निंदा की

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक मोहन भागवत के भाषण का दूरदर्शन पर सीधा प्रसारण किए जाने के निर्णय की निंदा करते हुए वाम दलों ने आज राष्ट्रीय प्रसारक का ‘दुरुपयोग’ करने के लिए नरेन्द्र मोदी सरकार पर हमला बोला।

नई दिल्ली : राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक मोहन भागवत के भाषण का दूरदर्शन पर सीधा प्रसारण किए जाने के निर्णय की निंदा करते हुए वाम दलों ने आज राष्ट्रीय प्रसारक का ‘दुरुपयोग’ करने के लिए नरेन्द्र मोदी सरकार पर हमला बोला।

माकपा पोलित ब्यूरो ने यहां एक बयान में कहा कि आरएसएस इस अवसर का इस्तेमाल अपनी हिन्दुत्व की विचारधारा को फैलाने के लिए करती है। राष्ट्रीय सार्वजनिक प्रसारक को आरएसएस जैसे संगठन के प्रमुख के भाषण को सीधा प्रसारित नहीं करना चाहिए था। पार्टी ने विजयादशमी के अवसर पर मोहन भागवत के संबोधन को सीधा प्रसारित करने के दूरदर्शन के निर्णय की निंदा करते हुए कहा कि इस तरह की कार्रवाई जाहिर करती है कि मोदी सरकार द्वारा सार्वजनिक प्रसारक का किस तरह दुरूपयोग किया जा रहा है। भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी ने भी भागवत के भाषण को सीधा प्रसारित किये जाने की निंदा की और कहा कि यह सरकारी प्रसारक का दुरूपयोग है।

भाकपा के महासचिव डी राजा ने कहा कि सरकार और खासकर सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय को दूरदर्शन को आरएसएस का मुख्यपत्र बनने की इजाजत देने के लिए जनता को स्पष्टीकरण देना चाहिए। आरएसएस के सरसंघचालक ने आज नागपुर के रेशमबाग मैदान में संघ कार्यकर्ताओं को विजयदशमी के मौके पर संबोधित किया।