मेरठ गैंगरेप : मुलायम बोले-आरोपियों पर होगी सख्त कार्रवाई

मेरठ गैंगरेप : मुलायम बोले-आरोपियों पर होगी सख्त कार्रवाई

ज़ी मीडिया ब्यूरो

लखनऊ : मरेठ गैंगरेप के आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई का भरोसा देते हुए समाजवादी पार्टी के मुखिया मुलायम सिंह यादव ने मंगलवार को मामले की जांच केंद्रीय जांच ब्यूरो से कराने का भरोसा दिया।

 लड़की के साथ हुए गैंगरेप और कथित धर्मांतरण मामले में राजनीति भी शुरू हो गई है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मीकांत बाजपेयी और मुजफ्फरनगर दंगे में आरोपी विधायक भाजपा विधायक संगीत शोम ने मंगलवार को कहा कि वे पीड़ित लड़की और उसके परिवार से मिलेंगे।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक अखिलेश यादव सरकार की आलोचना करते हुए लक्ष्मीकांत बाजपेयी ने कहा, 'उत्तर प्रदेश में कानून और व्यवस्था नाम की कोई चीज नहीं है। इस मामले को सांप्रदायिक रंग दिया गया है लेकिन सरकार मामले को गंभीरता से नहीं ले रही है। सपा राज्य में सरकार चलाने के योग्य नहीं है और हिंसा के लिए भाजपा को जिम्मेदार ठहरा रही है।'

ज्ञात हो कि पीड़ित 20 वर्षीया युवती खरखौदा के एक मदरसे में हिंदू एवं अग्रेजी विषय की अध्यापिका है। पीड़िता ने आरोप लगाया है कि गत 23 जुलाई को उसको अगवा कर हापुड़ और फिर उसे मुजफ्फरनगर के एक मदरसे में ले जाया गया। पीड़िता का कहना है कि मदरसे में उसके साथ सामूहिक बलात्कार और जबरन उसका धर्म परिवर्तन कराया गया। उसका नाम भी बदल दिया गया।  

पीड़ित महिला 2 अगस्त को वहां से निकलने में कामयाब हो गई और इसके बाद उसने अपने परिवार से संपर्क किया। इसके बाद महिला परिवार के साथ थाने पहुंची और शिकायत दर्ज कराई। पीड़िता ने दावा किया कि मुजफ्फरनगर स्थित मदरसे में उसने 40 से अधिक लड़कियों को देखा जिन्हें बंधक बनाकर एक गुप्त कमरे में रखा गया है। पीड़ित महिला की शिकायत पर दो थानों की पुलिस ने छापेमारी की। छापे में मिली चार युवतियों ने अपनी मर्जी से मदरसे में रहने की बात कही।

मामला सामने आने के बाद इलाके में तनाव की स्थिति है। जिला प्रशासन क्षेत्र में कड़ी नजर रख रहा है। इलाके में पुलिस की तैनाती बढ़ा दी गई है जबकि अर्धसैनिक बलों को किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तैयार रहने के लिए कहा गया है।