मोदी की मां व पत्नी को मिलेगी एसपीजी सुरक्षा

सुरक्षा अधिकारियों के मुताबिक देश के 14वें प्रधानमंत्री के रूप में 26 मई को नरेंद्र मोदी के शपथ लेने के बाद उनकी मां और पत्नी को स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप (एसपीजी) की सुरक्षा मुहैया करा दी जाएगी।

नई दिल्ली : इस बार के आम चुनाव से पहले तक सरकारी रिकार्ड में शादी का कॉलम छोड़ने वाले नरेंद्र मोदी की `परित्यक्त` पत्नी भी एसपीजी की सुरक्षा में रहेंगी। सुरक्षा अधिकारियों के मुताबिक देश के 14वें प्रधानमंत्री के रूप में 26 मई को नरेंद्र मोदी के शपथ लेने के बाद उनकी मां और उनकी पत्नी को स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप (एसपीजी) की सुरक्षा मुहैया करा दी जाएगी।
एक अधिकारी ने अपना नाम जाहिर नहीं होने की शर्त पर बताया, `मोदी की मां हीराबेन और पत्नी जसोदाबेन को भी एसपीजी की सुरक्षा मुहैया कराई जाएगी। लेकिन उनके तीन भाइयों और दो बहनों को राज्य सरकार द्वारा जेड श्रेणी की सुरक्षा दी जाएगी।`
मोदी की पत्नी और मां के साथ ही साथ उनके भाई और बहनें गुजरात में रहती हैं। मोदी अपनी पत्नी से अलग रहते हैं। सूत्रों ने कहा कि मां और पत्नी की सुरक्षा के लिए जरूरत का आंकलन करने के लिए एसपीजी के कमांडो गुजरात भेजे जा चुके हैं।
अधिकारियों ने बताया कि राज्य पुलिस को भी उनके भाइयों और बहनों की सुरक्षा का जायजा लेने का निर्देश दिया गया है और उसके अनुसार सुरक्षा मुहैया कराने के लिए कहा गया है। मोदी के बड़े भाई सोम स्वास्थ्य विभाग से सेवानिवृत्त कर्मचारी हैं और अहमदाबाद में ओल्ड एज होम चलाते हैं। मोदी इसके बाद आते हैं। तीसरे नंबर के भाई प्रहलाद अहमदाबाद में एक दुकान चलाते हैं, जबकि चौथे भाई पंकज गांधीनगर में गुजरात सरकार के सूचना विभाग में क्लर्क हैं।
मोदी की मां सोम के साथ रहती हैं, जबकि मोदी की पत्नी जसोदाबेन सेवानिवृत्त शिक्षिका हैं और पालनपुर में बनासकांठा जिले के राजोसना गांव में रहती हैं। एसपीजी एक्ट के मुताबिक भारत के प्रधानमंत्री और उनके परिवार के सन्निकट सदस्यों को वीआईपी सुरक्षा के लिए प्रशिक्षित उन्नत कमांडो की सुरक्षा मुहैया कराई जाती है। (एजेंसी)