राजपक्षे के निमंत्रण पर पुनर्विचार हो: एमडीएमके, पीएमके

राजग के घटक दल एमडीएमके, पीएमके के अलावा डीएमके जैसे तमिलनाडु के कुछ राजनीतिक दलों ने प्रधानमंत्री पद के लिए नरेन्द्र मोदी के शपथ समारोह में श्रीलंका के राष्ट्रपति महिंदा राजपक्षे को आमंत्रित करने की आलोचना करते हुए इस निर्णय पर पुनर्विचार करने की मांग की है।

नई दिल्ली/चेन्नई : राजग के घटक दल एमडीएमके, पीएमके के अलावा डीएमके जैसे तमिलनाडु के कुछ राजनीतिक दलों ने प्रधानमंत्री पद के लिए नरेन्द्र मोदी के शपथ समारोह में श्रीलंका के राष्ट्रपति महिंदा राजपक्षे को आमंत्रित करने की आलोचना करते हुए इस निर्णय पर पुनर्विचार करने की मांग की है।
भाजपा नीत राजग के घटक दल एमडीएमके के प्रमुख वाइको ने शुक्रवार को मोदी और भाजपा अध्यक्ष राजनाथ सिंह से अलग अलग मुलाकात करके इस फैसले पर पुनर्विचार करने की जोरदार मांग की। उन्होंने हालांकि यह नहीं बताया कि मोदी ने उन्हें इस बारे में क्या आश्वासन दिया। शपथ ग्रहण समारोह में राजपक्षे को आमंत्रित किए जाने का विरोध करते हुए उन्होंने मोदी और सिंह दोनों से इस निर्णय को बदलने को कहा। उन्होंने हालांकि यह स्पष्ट नहीं किया कि राजपक्षे के आने पर एमडीएमके क्या शपथ ग्रहण समारोह का बहिष्कार करेगा।
इस सिलसिले में वाइको ने आज सुबह भाजपा अध्यक्ष से मिलने के बाद पार्टी के वरिष्ठ नेताओं अमित शाह और अरूण जेटली की उपस्थिति में मोदी से भी मुलाकात की। मोदी से भेंट के बाद इस तमिल नेता ने संवाददाताओं से कहा कि राजपक्षे तमिलों के कसाई हैं। मोदी को उन्हें (26 मई को होने जा रहे अपने शपथ ग्रहण समारोह के लिए) निमंत्रण देने के निर्णय पर पुनर्विचार करना चाहिए। उनकी इस मांग पर मोदी की प्रतिक्रिया पूछे जाने पर वाइको ने कुछ ना कहते हुए संकेत दिया कि उन्हें किसी तरह का आश्वासन नहीं मिला है।
राजग के अन्य घटक दल पीएमके ने भी राजपक्षे को आमंत्रित करने के निर्णय पर पुनर्विचार करने की मांग की है। (एजेंसी)

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.