अगस्ता वेस्टलैंड को दिया गया अंतिम कारण बताओ नोटिस

रक्षा मंत्रालय ने 3600 करोड़ रूपये की लागत से भारतीय वायु सेना को 12 हेलिकॉप्टरों की आपूर्ति के लिए एंग्लो-इतालवी फर्म अगस्ता वेस्टलैंड को दिए गए अनुबंध को रद्द करने के लिए अंतिम कारण बताओ नोटिस दिया है।

नई दिल्ली : रक्षा मंत्रालय ने 3600 करोड़ रूपये की लागत से भारतीय वायु सेना को 12 हेलिकॉप्टरों की आपूर्ति के लिए एंग्लो-इतालवी फर्म अगस्ता वेस्टलैंड को दिए गए अनुबंध को रद्द करने के लिए अंतिम कारण बताओ नोटिस दिया है। अनुबंध की शर्तों का उल्लंघन करने के लिए फर्म को यह कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है।
मंत्रालय ने यह नोटिस 21 अक्तूबर को जारी किया था जिसमें उसने एंग्लो इतालवी फर्म से कहा है कि ‘प्री इंटेगरिटी समझौते और 12 वीवीआईपी हेलिकॉप्टरों की खरीद के लिए शर्तों का उल्लंघन करने के लिए उनके खिलाफ अनुबंध को रद्द करने समेत क्यों न बताई गई सभी या कोई कार्रवाई की जानी चाहिए।’ रक्षा मंत्रालय के सूत्रों ने बताया कि फर्म को अंतिम चेतावनी का जवाब देने के लिए 21 दिन का वक्त दिया गया है।
अगस्ता वेस्टलैंड द्वारा मध्यस्थता की प्रक्रिया का इस्तेमाल किए जाने के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि ये कार्यवाही रक्षा मंत्रालय के प्री कांट्रैक्ट इंटेगरिटी समझौते का उल्लंघन करने पर लागू नहीं होती है। (एजेंसी)