टीम राहुल और वरिष्ठ कांग्रेसियों के बीच गहराई दरार

टीम राहुल और वरिष्ठ नेताओं के बीच दरार गहरी होती जा रही है। कांग्रेस के युवा सचिवों के एक समूह ने पार्टी की छवि को आघात पहुंचाने वाली सार्वजनिक ‘नकारात्मक’ टिप्पणियां करने को लेकर वरिष्ठ नेताओं पर हमला बोला। हालांकि राहुल गांधी इस दरार को पाटने के प्रयासों में जुटे हैं।

नई दिल्ली/अमेठी : टीम राहुल और वरिष्ठ नेताओं के बीच दरार गहरी होती जा रही है। कांग्रेस के युवा सचिवों के एक समूह ने पार्टी की छवि को आघात पहुंचाने वाली सार्वजनिक ‘नकारात्मक’ टिप्पणियां करने को लेकर वरिष्ठ नेताओं पर हमला बोला। हालांकि राहुल गांधी इस दरार को पाटने के प्रयासों में जुटे हैं।

वरिष्ठ नेताओं द्वारा ‘सार्वजनिक रूप से नकारात्मक टिप्पणियां’ किए जाने पर वरिष्ठ नेताओं के खिलाफ कड़ी नाराजगी जाहिर करते हुए कांग्रेस के युवा सचिवों ने आज जनार्दन द्विवेदी से मुलाकात की और अपनी नाखुशी का इजहार किया। द्विवेदी ने हाल ही में कुछ मीनमेख निकालने वाली टिप्पणियां की थी।

युवा नेताओं ने द्विवेदी को सौंपे एक पत्र में लिखा है, ‘हम लोग जिन्होंने नीचे हस्ताक्षर किए हैं, काफी समय से शिद्दत के साथ महसूस कर रहे हैं कि कांग्रेस के विभिन्न स्तरों से एक बयान आया है जो पार्टी के हित में नहीं है।’ इसमें कहा गया है, ‘यदि कोई चिंता है तो इसे बेहद गरिमामय तरीके से और पार्टी के भीतर उचित तरीके से उठाया जाना चाहिए, लेकिन निश्चित रूप से उस तरीके से नहीं जैसा कि हमारे कुछ सम्मानित वरिष्ठ कांग्रेसी नेता कर रहे हैं।’

पत्र में कहा गया है, ‘इस बात पर भी ध्यान दिया जाना चाहिए कि हाल ही में सार्वजनिक रूप से अपने विचार व्यक्त करने वाले ये वही नेता हैं जो पार्टी की सर्वोच्च नीति नियंता ईकाई का हिस्सा रहे हैं।’ पत्र में किसी नेता विशेष का नाम नहीं लिया गया है लेकिन परोक्ष रूप से इसमें उन कई नेताओं की ओर इशारा किया गया है जिन्होंने चुनाव के दौरान राहुल गांधी और उनकी टीम की रणनीति की आलोचना की थी। ताजा मामला दिग्विजय सिंह का है जिन्होंने कहा था कि महत्वपूर्ण मुद्दों पर राहुल गांधी की चुप्पी हार का कारण बनी।