रामदेव को जेल भेजो, वरना आंदोलन: मायावती

बसपा अध्यक्ष मायावती ने शनिवार को योगगुरु बाबा रामदेव द्वारा कांग्रेस की आलोचना के दौरान दलितों के संबंध में की गई टिप्पणी की कड़े शब्दों में निन्दा करते हुए उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज करके जेल भेजने की मांग की और कहा कि ऐसा नहीं होने पर पूरे देश में रामदेव के खिलाफ जबर्दस्त आंदोलन शुरू किया जाएगा।

लखनऊ : बसपा अध्यक्ष मायावती ने शनिवार को योगगुरु बाबा रामदेव द्वारा कांग्रेस की आलोचना के दौरान दलितों के संबंध में की गई टिप्पणी की कड़े शब्दों में निन्दा करते हुए उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज करके जेल भेजने की मांग की और कहा कि ऐसा नहीं होने पर पूरे देश में रामदेव के खिलाफ जबर्दस्त आंदोलन शुरू किया जाएगा।
मायावती ने यहां आयोजित चुनावी सभा में कहा ‘‘शुक्रवार को भाजपा के बहुत बड़े नेता और प्रचारक बाबा रामदेव ने लखनऊ में कांग्रेस की आलोचना करते हुए जिस तरह पूरे देश के दलितों की बहन बेटियों की इज्जत पर उंगली उठायी है, जिस अश्लील और गिरी हुई भाषा का इस्तेमाल किया है। उसकी हमारी पार्टी कड़े शब्दों में निन्दा करती है।’’ उन्होंने कहा ‘‘मैं मुख्य चुनाव आयुक्त और यहां (उत्तर प्रदेश) की सपा सरकार को कहना चाहती हूं कि भाजपा के इस योगी नेता रामदेव की गिरी हुई हरकत के खिलाफ दलित अधिनियम के द्वारा महिला उत्पीड़न को रोकने के लिये बनाये गये कानून के तहत मुकदमा कराकर जेल भेजा जाए।’’
उन्होंने कहा, ‘‘इसके साथ ही भाजपा को ऐसे बाबा को तुरन्त ही पार्टी से निकालकर बाहर करना चाहिये, वरना बसपा इस बददिमाग बाबा तथा भाजपा और सपा के खिलाफ जबर्दस्त आंदोलन छेड़ेगी।’’ गौरतलब है कि रामदेव ने यहां संवाददाता सम्मेलन में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के बारे में आपत्तिजनक टिप्पणियां करते हुए कहा था कि वे दलितों के घर ‘हनीमून और पिकनिक’ मनाने जाते हैं। इस मामले में आज उनके खिलाफ लखनऊ में धारा 171 (छ) के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। (एजेंसी)