तेजी से जांच के लिए गूगल ग्लास का इस्तेमाल

आपने कभी सुना है कि किसी एयरलाइन कर्मचारियों द्वारा काउंटर पर यात्री की जांच के लिए अत्याधुनिक गूगल ग्लास या स्मार्टवॉच प्रौद्योगिकी का इस्तेमाल किया जा रहा है।

नई दिल्ली : आपने कभी सुना है कि किसी एयरलाइन कर्मचारियों द्वारा काउंटर पर यात्री की जांच के लिए अत्याधुनिक गूगल ग्लास या स्मार्टवॉच प्रौद्योगिकी का इस्तेमाल किया जा रहा है। हां, अब यह वास्तविकता है। ब्रिटेन की विमानन कंपनी वर्जिन अटलांटिक और वैश्विक परिवहन संचार तथा आईटी फर्म सीटा द्वारा लंदन के हीथ्रो हवाईअड्डे पर एयरलाइन के उच्च श्रेणी के यात्रियों पर इसका परीक्षण किया जा रहा है।
गूगल ग्लास एक पहना जा सकने वाला कंप्यूटर है जिसे चश्मे के रूप में पहना जा सकता है। यह स्मार्टफोन की तरह के फार्मेट में सूचना देता है और इसे पहनने वाला व्यक्ति इंटरनेट या वॉइस कमांड के जरिये बातचीत करता है।
एयरलाइन के प्रवक्ता ने कहा कि इस नवप्रवर्तित पायलट योजना को दो माह पहले शुरू किया गया था। गूगल ग्लास या सोनी स्मार्टवॉच 2 को सीटा और वर्जिन यात्री सेवा प्रणाली से एकीकृत किया गया है। जैसे ही कोई यात्री आता है यह एप्लिकेशन उसे पहचान लेती है तथा संबंधित कर्मचारी के स्मार्ट ग्लास या वॉच को उसके बारे में जानकारी मुहैया कराता है। कर्मचारी उस यात्री का स्वागत नाम लेकर करते हैं और उसके बाद चेक इन की प्रक्रिया शुरू होती है। (एजेंसी)