गेंदबाजी टीम इंडिया की सबसे बड़ी समस्या: सुनील गावस्कर

भारत के पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर ने न्यूजीलैंड के खिलाफ वर्तमान एकदिवसीय श्रृंखला में भारतीय गेंदबाजों के प्रदर्शन की आज कड़ी आलोचना की। गावस्कर ने कहा, भारत के लिये गेंदबाजी सबसे बड़ी चिंता है।

नई दिल्ली : भारत के पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर ने न्यूजीलैंड के खिलाफ वर्तमान एकदिवसीय श्रृंखला में भारतीय गेंदबाजों के प्रदर्शन की आज कड़ी आलोचना की। गावस्कर ने कहा, भारत के लिये गेंदबाजी सबसे बड़ी चिंता है। मैं नहीं जानता कि समस्या क्या है। मैं नहीं जानता कि उन्हें कोई समझाता भी है या नहीं। वे लगातार वही गलतियां दोहरा रहे हैं। यदि वे अपनी गलतियों में जल्द सुधार नहीं करते तो फिर अगले साल आस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड में होने वाले विश्व कप में काफी परेशानी होगी।
इस दिग्गज बल्लेबाज ने टीम चयन और संयोजन पर भी सवाल उठाये। उन्होंने कहा, ऐसा लगता है कि कुछ बदलाव केवल बदलाव करने के लिये कर दिये गये। जब आप विदेशी दौरों पर दो विशेषज्ञ सलामी बल्लेबाजों के साथ जाते हो तो ऐसा होता है। आप अपने सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज (विराट कोहली) को पारी की शुरुआत के लिये भेजते हो जबकि आपके पास ऐसा खिलाड़ी (अजिंक्य रहाणे) है जो टी20 प्रारूप में भारत के लिये पारी का आगाज कर चुका है। यह समझना मुश्किल है और मुझे यह थोड़ा अजीब लगा। गावस्कर का मानना है कि सलामी बल्लेबाज का काम विशेषज्ञ का होता है और नंबर तीन बल्लेबाज को पारी का आगाज करने के लिये नहीं भेजा जाना चाहिए।
गावस्कर ने हालांकि स्टुअर्ट बिन्नी को चोटी के सात बल्लेबाजों शामिल नहीं करने और उन्हें केवल एक ओवर देने को खास तवज्जो नहीं दी। उन्होंने कहा, स्टुअर्ट बिन्नी को फिनिशर की अपनी योग्यता के कारण टीम में रखा गया है। वह अपनी बल्लेबाजी के कारण टीम में है। वह किसी भी टीम में छठे गेंदबाज के रूप में रखा जाएगा। निश्चित तौर पर आप किसी कामचलाउ गेंदबाज से पहले ओवर में तीन या चार विकेट की उम्मीद नहीं कर सकते। यहां तक कि नियमित गेंदबाज ऐसा नहीं कर पाते। (एजेंसी)