भारत से वर्ल्ड कप 2011 सेमीफाइनल की हार अब भी कचोटती है: अफरीदी

पाकिस्तानी ऑलराउंडर शाहिद अफरीदी ने कहा है कि उनकी टीम की विश्व कप 2011 के सेमीफाइनल में चिरप्रतिद्वंद्वी भारत के हाथों हार अब भी उन्हें कचोटती है और वह दुखी हो जाते हैं।

भारत से वर्ल्ड कप 2011 सेमीफाइनल की हार अब भी कचोटती है: अफरीदी

कराची : पाकिस्तानी ऑलराउंडर शाहिद अफरीदी ने कहा है कि उनकी टीम की विश्व कप 2011 के सेमीफाइनल में चिरप्रतिद्वंद्वी भारत के हाथों हार अब भी उन्हें कचोटती है और वह दुखी हो जाते हैं।

अफरीदी ने कहा, हमने सेमीफाइनल तक अच्छा खेल दिखाया था और हम फाइनल से केवल एक कदम दूर थे लेकिन वह हमारे लिये खराब दिन था और आखिर में हम खाली हाथ लौटे। भारत के हाथों हार अब भी मुझे कचोटती है और मैं दुखी हो जाता हूं।

अफरीदी 2010 में वनडे और टी20 टीम के कप्तान थे लेकिन मई 2011 में वेस्टइंडीज दौरे के दौरान उनकी मुख्य कोच वकार यूनिस से ठन गयी थी और पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने अनुशासनात्मक आधार पर उन्हें कप्तान पद से हटा दिया था।

उन्होंने कहा, इसमें कोई शक नहीं कि राष्ट्रीय टीम का कप्तान होना मेरे लिये बहुत बड़ा सम्मान था लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि मैं उसके पीछे भाग रहा था। कप्तान चाहे मिसबाह उल हक हो या कोई और मैं हमेशा उसे पूरा समर्थन दूंगा।